Halloween party ideas 2015

 

  • दून मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य मंत्री ने फ्लैग ऑफ कर रवाना किया ट्रामा रथ
  • प्रदेशभर में नुक्कड नाटकों के जरिये ट्रॉमा के प्रति लोगों को करेगा जागरूक
  • दून मेडिकल कॉलेज एवं एम्स ऋषिकेश के तत्वाधान में चलाया जायेगा अभियान

देहरादून:

trauma centre will be estabilished in Uttarakhand in every medical college


सूबे में स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने के लिए प्रदेश के सभी राजकीय मेडिकल कॉलेजों में ट्रॉमा सेंटर स्थापित किये जायेंगे। जहां चौबीसों घंटे आपातकालीन सुविधा मुहैया कराई जायेगी। राज्य में दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से जागरूता अभियान का शुरू किये गये हैं साथ ही ट्रॉमा रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया, जो प्रदेशभर में आम लोगों को ट्रॉमा के विषय में जागरूक करेगा। 


स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज दून मेडिकल कॉलेज में विश्व ट्रामा सप्ताह का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर डॉ. रावत ने ‘ट्रॉमा रथ’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। डॉ. रावत ने बताया कि प्रदेश के प्रत्येक मेडिकल कॉलेज में ट्रॉमा सेंटर स्थापित किये जायेंगे। जिसमें से तीन मेडिकल कॉलेजों राजकीय दून मेडिकल कॉलेज, श्रीनगर मेडिकल कॉलेज एवं हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में ट्रॉमा सेंटर बनकर तैयार हो गये हैं जो शीघ्र शुरू हो जायेंगे जबकि अन्य मेडिकल कॉलेजों में ट्रॉमा सेंटर की कार्यवाही गतिमान है। उन्होंने बताया कि इन ट्रॉमा सेंटर में 24 घंटे आपातकालीन सुविधाएं मुहैया की जायेगी, जिसमें न्यूरो, आर्थो एवं एनेस्थेसिया के डॉक्टर एवं अन्य मेडिकल स्टॉफ उपलब्ध रहेंगे। डॉ. रावत ने कहा कि विश्व ट्रॉमा सप्ताह के अवसर पर प्रदेशभर में ट्रॉमा के प्रति लोगों को जागरूक करन के उद्देश्य से ‘ट्रामा रथ’ को रवाना किया गया है जो कि आधुनिक सुविधाओं से युक्त है। इस रथ के साथ 12 सदस्यीय टीम है जिसे एम्स के चिकित्सक डॉ. मधुर उनियाल लीड कर रहे हैं। यह टीम लोगों को नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से समाज को यह संदेश देगा कि हेलमेट पहनकर एवं गाड़ी चलाने के दौरान अल्कोहल ना लेकर ट्रॉमा को रोका जा सकता है। डॉ. रावत ने बताया कि ट्रॉमा सप्ताह का कार्यक्रम दून मेडिकल कॉलेज एवं एम्स ऋषिकेश के तत्वाधान संचालित किया जा रहा है जो प्रदेशभर में लोगों को जागरूक करेगा। इस दौरान डॉ. रावत ने चौरा चाकीसैंण निवासी श्रीमती शाखा देवी एवं चौथाण काण्डई निवासी एक वर्षीय दीपक की कुशलक्षेम भी पूछी। दोनों मरीज दून अस्पताल के आसीयू में भर्ती हैं। डॉ. रावत ने चिकित्सकों को दोनों के उपचार के लिए आवश्यक निर्देश दिये। 

इस अवसर पर अपर सचिव स्वास्थ्य सी. रविशंकर, प्राचार्य दून मेडिकल कॉलेज डॉ आशुतोष सयाना, चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर केसी पंत, डिप्टी डायरेक्टर एम.के. पंत, डॉक्टर अनिल जोशी, डॉक्टर मधुर उनियाल, महेंद्र भंडारी, अशोक उनियाल आदि विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। 




Post a Comment

Powered by Blogger.