Halloween party ideas 2015


 

 

राज्य में भारी वर्षा के चलते एसडीआरएफ  की सभी टीमें हाई अलर्ट पर है। मौसम विभाग के अलर्ट के बाद व राज्य में लगातार हो रही बारिश को देखते हुये, कमांडेंट एसडीआरएफ  , श्री नवनीत भुल्लर   लगातार मानिटिरिंग कर रहे है व उनके द्वारा राज्य आपातकालीन परिचालन केन्द्र से राज्य में हो रही बारिश की घटनाओं की जानकारी जुटाकर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए जा रहे है।

  कमांडेंट एसडीआरएफ  श्री नवनीत सिंह, कंट्रोल रूम से राज्यभर में व्यवस्थापित एसडीआरएफ  के टीम प्रभारियों से लगातार हो रही भारी वर्षा  की स्थिति, मोटरमार्गों की स्थिति,मार्ग में वाहनों की स्थिति,पैदल यात्रियों की संख्या इतियादी की पल-पल की जानकारी ले रहे हैं। साथ ही एसडीआरएफ  कंट्रोल रूम में तैनात कर्मचारी भी सम्बंधित अधिकारियों से प्रत्येक घटनाक्रम की जानकारी जुटाने में लगे हैं।

 लगातार हो रही भारी वर्षा के कारण कल पूरा दिन व बीती रात बेहद चुनौतीपूर्ण रही। कल दिन के बारिश की स्थिति को देखते हुए कमांडेंट एसडीआरएफ , श्री नवनीत सिंह द्वारा जहाँ एक ओर कुशल पर्यवेक्षण कलिये  सहायक सेनानायकों को सेन्वेदनशील पोस्टों पर रवाना किया वहीं दूसरी ओर स्वयं राज्यभर की समस्त टीमों की कमान सम्भालते हुए मुख्यालय में डेरा डाल दिया। किसी भी आपात स्थिति में तुरन्त प्रत्यावेदन हेतु वह स्वयं मय रेस्क्यू टीम के सज रहे।

रातभर SDRF कंट्रोल रूम में रेस्क्यू कॉल आती रही और त्वरित रिस्पांस देते हुए SDRF अलर्ट टीमो को तत्काल घटनास्थल पर भेजा गया। बात चाहे छोटी हो या बड़ी , हर सूचना को पूर्ण गम्भीरता से लेते हुए तुरन्त रिस्पांस दिया जा रहा है ताकि अन्य प्रदेशों से आये प्रत्येक पर्यटक प्रदेश से अच्छा सन्देश लेकर जाए ।


कल रात से आज तक किये महत्त्वपूर्ण रेस्क्यू      :---- 


1.  SDM तहसील सतपुली से, एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम को सूचित किया कि हंस फाउंडेशन अस्पताल के पास एक वाहन मलवे मे फंसा है, जिसमे कुछ व्यक्ति सवार है, जिसे बाहर निकालने हेतु एसडीआरएफ  टीम की आवश्यकता है।उक्त सूचना पर आरक्षी सतेन्द्र सिंह के हमराह टीम तत्काल  घटनास्थल के लिये रवाना हुई।

                            


रेस्क्यू टीम को मौके पर ज्ञात हुआ कि उक्त वाहन एक कार थी जिसमे 02 युवक कल्याण सिंह पुत्र श्री बहादुर उम्र 33 निवासी हैडाखोली व राहुल पुत्र विकास उम्र 32 निवासी झडकडी कुडिगांव सतपुली सवार थे, जो कि  हंस फाउंडेशन अस्पताल से अपने घर की ओर जा रहे थे रास्ते मे अत्यधिक वर्षा के कारण उक्त वाहन एक गदेरे से मलवा की चपेट मे आ गया, जिससे दोनो युवक मलवे मे फंस गये।

रेस्क्यू टीम द्वारा बिना समय गवाये घटनास्थल से उक्त व्यक्तियों को सकुशल बाहर निकाला गया।


2.  एसडीआरएफ  टीम को सूचना मिली कि  हीरा डूंगी अल्मोड़ा में एक मकान ध्वस्त  हो गया है जिसमें एक लड़की फंसी हुई है।


 

 उक्त सूचना मिलते ही  निरीक्षक गजेंद्र परवाल के हमराह टीम तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हुई।

रेस्क्यू टीम द्वारा घटना स्थल पर ज्ञात हुआ कि उक्त लडकी अरुना(गुनगुन) पुत्री स्व0 श्री त्रिलोक सिंह उम्र 14 वर्ष निवासी हीरा डूंगी अल्मोड़ा जो कि मकान के नीचे मलवे मे दब गई थी।

रेस्क्यू टीम द्वारा उक्त लडकी को मलवे से घायल अवस्था मे बाहर निकाला गया और टीम द्वारा 108 के माध्यम से उपचार हेतु अस्पताल भेजा गया।


3.  डीसीआर चमोली से एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम को अवगत कराया गया कि  झुग्गी में  4 मजदूर फंसे है जिन्हे बाहर निकालने हेतु एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम की आवश्यकता है उक्त सूचना पर पोस्ट जोशीमठ से उप निरीक्षक मनोहर कन्याल के हमराह टीम तत्काल घटना स्थल के लिये रवाना हुई।

मौके पर एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम को ज्ञात हुआ कि अत्यधिक वर्षा के कारण मारवाडी पुल जोशीमठ के नीचे झुग्गी मे रह रहे 4 मजदूर मलवे  मे फंस गये है  जिसमे से 1 पुरुष व 3 महिलाएं है और वे सभी नेपाल के मूल निवासी है। 

रेस्क्यू टीम के पहुचने से पूर्व ही  स्थानीय लोगों व जिला पुलिस की सहायता से सभी मजदूरों को बाहर निकाला लिया गया। जिसमे से एक महिला घायल हो गई, उक्त महिला को घायल अवस्था मे 108 के माध्यम से अस्पताल भेजा गया।


4. एसडीआरएफ  पोस्ट सोनप्रयाग को कल देर रात चौकी सोनप्रयाग से सूचना मिली कि जंगल चट्टी के पास कुछ यात्री फंसे है । लगातार हो रही बारिश के कारण लैंडस्लाइड व मलबे आने का खतरा बना हुआ है ।अतः यात्रियों को सुरक्षित लाने हेतु एसडीआरएफ की आवश्यकता है।

                                                  

उक्त सूचना पर एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम तत्काल जंगल चट्टी एक लिए रवाना हुई। रात्रि का अंधेरा और गर्जन के साथ हो रही मूसलाधर बारिश ,रेस्क्यू में बाधा उतपन्न करने कि लाख कोशिश कर रही थी परंतु  एसडीआरएफ  के सामने लक्ष्य था ,संकट में फंसी कई यात्रियों की जान की  सुरक्षा का , जिसके समक्ष ये सारी बाधाएं  बौनी थी। तमाम मुश्किलातों को दरकिनार करते हुए एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम जंगल चट्टी पहुची जहाँ लगभग 22 यात्री  मिले। सभी यात्री केदारनाथ मन्दिर में दर्शन के उपरांत वापस आ रहे थे। अचानक बारिश तेज़ हो जाने के कारण समय से नीचे नही पहुँच पाए।


बारिश में बढ़ते खतरे को देख एसडीआरएफ  द्वारा बिना वक्त गवाए समस्त यात्रियों को पूर्ण सुरक्षा प्रदान करते हुए नीचे लाया गया। उक्त यात्रियों में से एक महिला,नाम सुषमा रानी उम्र  55, निवासी सोनीपत ,हरियाणा  की तबीयत ज़्यादा खराब हो रही थी ।बारिश में भीग जाने के कारण ठंड से स्वयम चलने में भी असमर्थ थी । उक्त महिला को एसडीआरएफ टीम द्वारा स्ट्रेटचेर की मदद से नीचे लाया गया। सभी यात्रियों को समय रहते सुरक्षित गौरीकुंड लाया गया


5. एसडीआरएफ   टीम को  चौकी गंगोत्री से अवगत कराया कि कनखू बैरियर के पास गौमुख मार्ग पर लगभग 25 ट्रैकर फंसे हैं ।

उक्त सुचना पर पोस्ट गंगोत्री से रेस्क्यू टीम तत्काल रवाना हुई।परन्तु रेस्क्यू टीम  को अतिवृष्टी के कारण मार्ग  जगह-जगह खराब मिला। लेकिन एसडीआरएफ रेस्क्यू टीम ने साहस का परिचय देते हुए तमाम चुनौतियों को पार कर सभी ट्रैकरो को सुरक्षित गंगोत्री लाया गया।


6. चौकी  लिंचोली से एसडीआरएफ  टीम को अवगत कराया है कि  GMVN टेंट लिंचोली में किसी महिला का स्वस्थ खराब हो गया है उक्त सूचना पर पोस्ट लिन्चोली से एसडीआरएफ  रेस्क्यू टीम घटनास्थल के लिये रवाना हुई 

उक्त महिला  नाम अर्चना श्रीवास्तव पत्नी मनोज श्री वास्तव निवासी वेस्ट बंगाल उम्र 45 वर्ष को टीम द्वारा स्ट्रेचर की सहायता से  लिंचोली अस्पताल पहुंचाया गया ।


7.  एसडीआरएफ पोस्ट  श्री केदारनाथ को चौकी श्री केदारनाथ से सूचित कराया गया कि घोड़ा पडाव के पास एक व्यक्ति की तबीयत खराब है जिसे अस्पताल ले जाने हेतु टीम की आवश्यकता है 

उक्त सूचना पर पोस्ट केदारनाथ से आरक्षी अशीष डिमरी के हमराह टीम घटनास्थल के लिये रवाना हुई। 

उक्त व्यक्ति को रेस्क्यू टीम द्वारा अस्पताल मे भर्ती कराया गया।

इसके अतिरिक्त अन्य टीमें भी रेस्क्यू दूरभाष पर रवाना है , जो रेस्क्यू कार्य मे जुटी है।


रायवाला   में नदी के बीच टापू में फंसे लोग, एसडीआरएफ  ने सकुशल रेस्क्यू कर बांटा राहत किट



आज दिनांक 19 अक्टूबर 2021 को जिला नियंत्रण कक्ष देहरादून द्वारा एसडीआरएफ  को सूचित किया गया  कि रायवाला टिहरी फार्म के पास कुछ मकानों में पानी भर गया है।

       उपरोक्त सूचना पर एसडीआरएफ पोस्ट ढालवाला से  उप निरीक्षक चंदन सिंह बोरा  के हमराह टीम तत्काल घटनास्थल पर पहुंची  जहाँ मौके पर जिला पुलिस भी मौजूद थी।

  टीम प्रभारी द्वारा बताया कि लगभग 25  लोग रायवाला ग्राम में गंगा  नदी   में टापू में फंसे थे । इन लोगो का डेरा नज़दीक ही था व ये लोग अपने पशु चराने नदी किनारे गए थे ।अचानक नदी का जल स्तर बढ़ने से टापू में ही फंस गए। SDRF द्वारा समय पर पहुचकर सभी  को सुरक्षित निकाल लिया गया है । नदी में बहाव अत्यधिक तेज़ होने के कारण रेस्क्यू कार्य काफी दिक्कतें आयी। परन्तु SDRF के जाबाज़ जवानों ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए बेहद कठिन रेस्क्यू कर सभी को  सुरक्षित स्थान पहुचाया व उनको राहत किट भी वितरित की गई।



Post a Comment

Powered by Blogger.