Halloween party ideas 2015

 उत्तराखंड चारधाम यात्रा 2021


चारधाम अपडेट

हरिद्वार/ऋषिकेश में भी बड़ी संख्या में चारधाम यात्री,चारों धामों में बारिश तथा दूर पहाड़ियों पर बर्फवारी,लेकिन हालात सामान्य


ऋषिकेश/श्री बदरीनाथ/ केदारनाथ: 18 अक्टूबर





उत्तराखंड चारधाम जानेवाले तीर्थयात्री  कल 17 अक्टूबर प्रात: तक बड़ी संख्या में ऋषिकेश एवं हरिद्वार पहुंचे है प्रशासन द्वारा उन्हें सुरक्षित स्थानों पर रहने की अपील की है इस क्रम में कई तीर्थयात्री हरिद्वार रेल्वे स्टेशन‌ एवं ऋषिकेश बस अड्डे पर रूके हुए हैं हालांकि प्रशासन की उद्घोषणा के बाद 17 अक्टूबर प्रात: से ऋषिकेश बस अड्डे‌ में चार धाम से संबंधित वाहनों का संचालन बंद कर दिया गया है। 

ऋषिकेश - लक्ष्मण झूला सड़क मार्ग को   वन वे कर दिया गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम आनेवाले तीर्थयात्रियों से अपील की है कि मौसम की स्थिति को देखते हुए दो दिन सामान्य स्थिति होनेक तक चारधाम यात्रा को टाल दें।

चंद्रभागा पुल, तपोवन, लक्ष्मण झूला,मुनिकीरेती भद्रकाली बेरियर से पुलिस ने यात्री वाहनों का प्रवेश  बंद किया हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री केदारनाथ धाम में कल रात से बारिश है लेकिन मंदाकिनी का जल स्तर अभी सामान्य है।

 सुरक्षा दीवार के निकट नदी का प्रवाह सामान्य है। मंदिर में सुबह से कुछ तीर्थयात्रियों ने दर्शन किये है

श्री केदारनाथ के निकट ऊंची चोटियों पर बर्फवारी हो रही है।

श्री बदरीनाथ धाम में कल रात से लगातार  हल्की बारिश है सभी निकटवर्ती पहाड़ियों पर बर्फवारी हो रही है 

श्री गंगोत्री यमुनोत्री धाम में हल्की बारिश है। यात्रा मार्ग सुचारू हैं।

 कल 17 अक्टूबर से ही जिला प्रशासन एवं पुलिस द्वारा चारों धामों में मौसम की स्थिति एवं तीन दिन के एलर्ट को देखते हुए हरिद्वार,ऋषिकेष, सहित  श्रीनगर, टिहरी, उत्तरकाशी रूद्रप्रयाग,  गुप्तकाशी, उखीमठ कर्णप्रयाग, चमोली, जोशीमठ, पांडुकेश्वर आदि स्थानों में तीर्थयात्री फिलहाल जहां तक पहुंचे हैं कल तक उन्हीं स्थानों में सुरक्षित रूकने को कहा जा रहा है देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि चारों धाम श्री बदरीनाथ, श्री केदारनाथ, श्री गंगोत्री, श्री यमुनोत्री धाम में नित्य प्रतिदिन होनेवाली पूजाएं संपन्न हो रही है।  हालांकि बारिश एवं बर्फवारी से धामों में मौसम सर्द हो गया है।जो तीर्थयात्री धामों में रूके हैं वह सुरक्षित है मंदिर में दर्शन हेतु भी पहुंच रहे है हालांकि मौसम सामान्य होने के बाद ही वह अपने गंतव्य को प्रस्थान करेंगे।


उत्तराखंड चारधाम यात्रा 2021, तीर्थयात्री/ दर्शनार्थी जोकि दिनांक 17अक्टूबर  दिन से चारधामों में मौजूद हैं।

 18 अक्टूबर को मंदिर दर्शन को निम्नवत पहुंचे।

शायंकाल 4 बजे तक 

 (1) श्री बदरीनाथ धाम -1240

(2) श्री केदारनाथ धाम - 

1460(  खराब मौसम से हेलीकाप्टर सेवा बाधित )

(3) श्री गंगोत्री धाम-  40 

(4) श्री यमुनोत्री धाम-  nil 

 (तीर्थ यात्री  जानकी चट्टी / बड़कोट लौट चुके हैं।)

कुल दर्शनार्थियों की संख्या 2740

 दिनांक 1-17अक्टूबर को हैलीकाप्टर से केदारनाथ पहुंचे तीर्थ यात्री - 13697

18 सितंबर 2021 से  17 अक्टूबर 2021दोपहर तक उत्तराखंड  चारधाम पहुंचे तीर्थयात्रियों की संख्या 185097 ( एक लाख  पिचासी हजार सत्तानबे ।

चारधाम से संबंधित महत्त्वपूर्ण

बिंदु:-

 उत्तराखंड चारधाम यात्रा पर 

पर स्थायी रोक नहीं है यात्रा को अभी तक  आज के लिए स्थगित किया गया है।

दिनांक 17-18 एवं 19 अक्टूबर को मौसम विभाग की  भारी बारिश चेतावनी को देखते हुए तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर चारधाम जाने हेतु मनाही है। 

• माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा लगातार  प्रदेश के हालात की समीक्षा की जा रही है। मुख सचिव एस. एस संधू ने प्रशासनिक तंत्र को सक्रिय किया।

• धर्मस्व सचिव श्री हरिचंद्र सेमवाल ने कहा कि चारों धामों में ब्यवस्थाओं पर नजर रखे हुए है।

• प्रदेश के आपदा प्रबंधन तंत्र को संक्रिय किया गया आपदा प्रबंधन सचिव श्री एस.ए.मुरूगेशन ने  एडवाइजरी जारी की ।

• आयुक्त गढ़वाल गढ़वाल / मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड  श्री रविनाथ रमन ने अवगत कराया कि  देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी  श्री बी. डी. सिंह केदारनाथ धाम में रहकर दर्शन ब्यवस्था की मानिटरिंग कर रहे है।

• जिलाधिकारी देहरादून डा.  आर राजेश ने जिले के ऋषिकेश यात्रा पड़ाव पर यात्रियों को

सहायता निर्देश दिए हैं।

. जिलाधिकारी हरिद्वार श्री विनय शंकर पांडेय द्वारा चारधाम तीर्थयात्रियों की किसी भी परेशानी पर सहायता हेतु निर्दैश जारी किये हैं‌।

• जिलाधिकारी उत्तरकाशी श्री मयूर दीक्षित ने श्री गंगोत्री धाम एवं यमुनोत्री धाम के यात्रा पड़ावों पर यात्रा मजिस्ट्रेटों के साथ  नोडल अधिकारी तैनात किए जोकि तीर्थयात्रियों को किसी भी परेशानी यथा आवास/ भोजन/ चिकित्सा सुविधा में मदद करेंगे।हेल्प नंबर भी दिये जा रहे  हैं।

• जिलाधिकारी  रूद्रप्रयाग श्री मनुज गोयल के निर्देश पर गढ़वाल मंडल विकास निगम, एनडीआरएफ, पुलिस, चिकित्सा विभाग सहित जिला प्रशासन ने केदारनाथ मार्ग पर तीर्थयात्रियों के लिए सोनप्रयाग, गौरीकुंड, लिंचोली, केदारनाथ बेस केंप आवास /भोजन, चिकित्सा ब्यवस्था की है।

• श्री बदरीनाथ धाम में  जिला धिकारी चमोली श्री हिमांशु खुराना के निर्देश पर यात्रा मजिस्ट्रेट / उपजिलाधिकारी कुमकुम जोशी तीर्थयात्रियों की परेशानियों का त्वरित निराकरण कर रही है।

•  देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि श्री बदरीनाथ धाम में तीर्थयात्रियों को देवस्थानम बोर्ड द्वारा यथासंभव मदद की जा रही है।

•चारधाम यात्रा हेतु अब

http:// smartcitydehradun.uk.gov.in में तीर्थयात्री सीधे पंजीकरण करवा सकते हैं।

 देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर ई पास बनाने की आवश्यकता नहीं है।


•  यात्रा वर्ष 2021

उत्तराखंड के चारो धामों के कपाट बंद होने की तिथियां निम्न है


(1)श्री बदरीनाथ -20नवंबर

(2) श्री केदारनाथ - 6 नवंबर

(3) यमुनोत्री -6 नवंबर

(4)श्री गंगोत्री -5 नवंबर


पंच केदार


•श्री मद्महेश्वर जी 22 नवंबर

•श्री मद्महेश्वर मेला 25  नवंबर

•श्री तुंगनाथ जी 30 अक्टूबर

• श्री रूद्रनाथ जी के कपाट  17 अक्टूबर ब्रह्ममुहुर्त में शीतकाल हेतु बंद हो गये हैं।


•श्री हेमकुंड साहिब के कपाट 10 अक्टूबर को बंद हो गये हैं।

• उत्तराखंड चारधाम जानेवाले तीर्थयात्रियों  की सुविधा हेतु  प्रशासन द्वारा  चारधाम यात्रा बस टर्मिनल ऋषिकेश में निशुल्क कोविड जांच केंद्र स्थापित किया गया है साथ ही विभिन्न विभागों के हेल्प डेस्क यात्रियों की सहायता कर रहे हैं।



Post a Comment

Powered by Blogger.