Halloween party ideas 2015

 

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये, डॉ. धन सिंह रावत ने

 एक्स-रे एवं लैब टेक्नीशियनों के रिक्त पदों को एक माह में भरने के निर्देश*

 एनएचएम के अंतर्गत भर्तियों को 10 नवम्बर तक पूरा करने को कहा*

 


;


सूबे के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने विभाग के अंतर्गत संचालित केन्द्रीय एवं राज्य सरकार की योजनाओं का समयबद्ध क्रियान्वयन के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत विभिन्न निर्माण कार्यों में हो रही लेटलतीफी तथा बजट खर्च करने की धीमी गति पर नाराजगी जताते हुए अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। विभागीय मंत्री ने प्रदेशभर के चिकित्सालयों में वर्षों से रिक्त पड़े एक्स-रे एवं लैब टेक्नीशियनों के पदों को एक माह के भीतर भरने तथा एनएचएम के अंतर्गत चल रही भर्ती प्रक्रिया को किसी भी हाल में 10 नवम्बर तक सम्पन्न करने के निर्देश दिये। उन्होंने महानिदेशक स्वास्थ्य को विभागीय कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों एवं कार्मियों का स्पष्टीकरण मांगने के भी निर्देश दिये। 


विभागीय मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने  आज स्वास्थ्य महानिदेशालय में पहुंच कर विभाग द्वारा संचालित केन्द्र एंव राज्य सरकार की विभिन्न स्वास्थ्य योजनाओं की बारीकी से समीक्षा की। उन्होंने इस बात पर गहरी नाराजगी जताई कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्माण कार्यों हेतु वित्तीय वर्ष 2021-22 में स्वीकृति 68 करोड़ की धनराशि में से केवल 17 करोड़ रूपये ही अभी तक खर्च किये हैं। इसके अलावा आपदा मोचन निधि एवं अन्य केन्द्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन  एवं बजट खर्च करने की धीमी गति पर विभागीय मंत्री ने नाराजगी जताते हुए संबंधित अधिकारियों चेतावनी के साथ ही योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने को कहा। उन्होंने महानिदेशक स्वास्थ्य को प्रदेशभर के विभिन्न अस्पतालों में रिक्त एक्स-रे टेक्नीशियन एवं लैब टेक्नीशियनों के 240 पदों को एक माह के भीतर भरने तथा आवश्यकतानुसार अस्पतालों में वार्ड व्याय एवं सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत विभिन्न जनपदों में भरे जा रहे चिकित्साधिकारी, नर्स, फर्मासिस्ट, काउंसलर, टैक्नीशियन एवं एएनएम आदि के पदों को 10 नवम्बर तक भरने के निर्देश दिये। विभागीय मंत्री ने स्वास्थ्य महानिदेशालय के अंतर्गत संचालित सभी योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार एवं बजट के उपलब्ध के अनुरूप ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन कर आम लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ पहुंचाने के निर्देश दिये। उन्होंने कोविड-19 संक्रमण के संभावित तीसरी लहर के मध्यनजर वैक्सीन की शत-प्रतिशत डोज लगाने के लिए आशा कार्यकत्रियों के माध्यम से सघन जागरूकता अभियान चालये जाने पर भी बल दिया।


एनएचएम की समीक्षा बैठक में मिशन निदेशक सोनिका ने बताया कि वर्ष 2021-22 में विभिन्न मदों में स्वीकृत 872 करोड़ के सापेक्ष 530 करोड़ की धनराशि प्राप्त हुई थी, जिसमें से 163 करोड़ की धनराशि का उपयोग कर लिया गया है। उन्होंने एनएचएम के तहत संचालित विभिन्न योजनाओं जननी सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय बाल सुरक्षा योजना, टीबी उन्मूलन, तम्बाकू निषेध कार्यक्रम, राष्ट्रीय रैबीज जागरूता, राष्ट्रीय अंधता निवारण, रक्तचाप एवं मधुमेह रोगियों का उपचार, निःशुल्क जांच एवं दवा वितरण सहित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी दी। 


बैठक में मिशन निदेशक एनएचएम सोनिका, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. तृप्ति बहुगुणा, निदेशक डॉ. सरोज नैथानी, डॉ. विनीता शाह, वित्त नियंत्रक कविता नबियाल, खजान चंद पाण्डे सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। 




*950 स्थानों पर होगा केन्द्रीय गृह मंत्री के कार्यक्रम का प्रसारणः डॉ. धनसिंह रावत*


*अमित शाह देहरादून से करेंगे सहकारिता विभाग की योजनाओं का शुभारम्भ*


*केन्द्रीय मंत्री को भेंट की जायेगी पवित्र ‘गंगाजली’ एवं परम्परागत घर की प्रतिकृति*

 

*शाह के कार्यक्रम को लेकर समीक्षा बैठक में विभागीय मंत्री ने अधिकारियों को बांटी जिम्मेदारी*

 

देहरादून, 28 अक्टूबर 2021


देश के पहले सहकारिता मंत्री अमित शाह देहरादून में शनिवार को राज्य की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना एवं पैक्स कम्प्यूटराइजेशन का शुभारम्भ करेंगे। सहकारिता विभाग के तत्वाधान में आयोजित इस कार्यक्रम का सजीव प्रसारण राज्यभर के 950 से अधिक स्थानों पर किया जायेगा। जिसमें 650 पैक्स समितियां, 13 सहकारी बैंकों के जिला मुख्यालय तथा 300 अन्य बैंक शाखाएं एवं 40 साइलेज वितरण केन्द्र शामिल हैं। केन्द्रीय मंत्री को उपहार स्वरूप ‘गंगाजली’ एवं पर्वतीय शैली के काष्ठ निर्मित परम्परागत घर की प्रतिकृति प्रदान की जायेगी। केन्द्रीय गृह मंत्री के कार्यक्रम को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर दी गई हैं।


सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज विधानसभा स्थित अपने कार्यालय कक्ष में केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह के कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर अधिकारियों के साथ लम्बी चर्चा की। बैठक में डॉ. रावत ने अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारियां सौपते हुए अपने काम पर जुट जाने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय मंत्री आगामी 30 अक्टूबर को राज्य सरकार की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री घसियारी योजना एवं पैक्स कम्प्युटराइजेशन का शुभारम्भ देहरादून में बन्नू स्कूल के मैदान से करेंगे। घसियारी योजना के शुभारम्भ कार्यक्रम का प्रदेशभर में 950 से अधिक स्थानों पर सजीव प्रसारण किया जायेगा। जिसमें 650 पैक्स समित, सहकारी बैंकों के जिला मुख्यालय एवं अन्य 300 बैंक शाखाओं सहित 40 साइलेज वितरण केन्द्र शामिल है। उन्होंने कहा कि पैक्स समितियों एवं बैंक शाखाओं में संबंधित प्रबंधक, अधिकारी, समिति के सदस्य एवं स्टॉफ मौजूद रहेंगे। उन्होंने बताया कि केन्द्रीय मंत्री मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना, पैक्स कम्पयूटराइजेशन के शुभारम्भ अवसर पर विभागीय पत्रिका ‘सहकार से समृद्ध’ का विमोचन करेंगे साथ ही दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को चैक भी वितरित करेंगे। इसके उपरांत केन्द्रीय गृह मंत्री जनसभा को भी संबोधित करेंगे। 


मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना का शुभारम्भ होते ही साइलेज वितरण केन्द्रों पर विभागीय कार्मिकों द्वारा लाभार्थियों को साइलेज के पैकेज वितरित किये जायेंगे। डॉ. रावत ने बताया कि केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री का भव्य स्वागत किया जायेगा, जिसकी सभी तैयारियां पूर कर ली गई है।  इस अवसर पर राज्य सरकार की ओर से उन्हें उपहार स्वरूप विशेष रूप से तैयार की गई ‘गंगाजली’ एवं उत्तराखंड के पर्वतीय शैली के परम्परागत घरों की काष्ठ निर्मित प्रतिकृति भेंट की जायेगी। ‘गंगाजली’ सहकारिता विभाग के अंतर्गत प्रादेशिक को-ऑपरेटिव यूनियन का  एक महत्वकांक्षी उत्पाद है, जिसे देवप्रयाग में तैयार किया जा रहा है। विभागीय अधिकारी ने बताया कि भागीरथी एवं अलकनंदा के संगम स्थल देवप्रयाग में ब्रह्ममूर्त के समय गंगाजल को निकाल कर इसका वैदिक मंत्रोच्चरण से शुद्धिकरण किया जाता है। इसके उपरांत इसे हस्त निर्मित मिट्टी के कलशों में पैक किया जाता है। सहकारिता विभाग की इस पहल से जहां एक ओर स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार मिल रहा है वहीं सनातन परांपरा को घर-घर तक पहुंचाने का प्रयास भी किया जा रहा है। 

बैठक में निबंधक सहकारिता आनंद स्वरूप, अपर निबंधक ईरा उप्रेती, आनंद शुक्ला, उप निबंधक रामिन्द्रा मंद्रवाल, एम.पी. त्रिपाठी, मान सिंह सैनी, सुभाष चन्द्र गहतोरी, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक पौड़ी नरेन्द्र रावत, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक हरिद्वार प्रदीप चौधरी, अध्यक्ष जिला सहकारी बैंक टिहरी सुभाष रमोला सहित अन्य विभागय अधिकारी उपस्थित रहे। 



Post a Comment

Powered by Blogger.