Halloween party ideas 2015

   




विगत कुछ दिनों से नदी घाटों पर घूमना या तैरना अति भयावह सिद्ध हो रहा है। नित नए दिन नदी किनारों पर  विभिन्न प्रकार की दुर्घटनाएं प्राण घातक सिद्ध हुई है।

 

घटना आज थाना मुनि की रेती ,राम झूला घाट की है जहां नोएडा की एक एंड्राइड कंपनी में काम करने वाले अधिकारियों का एक ग्रुप वीकेंड पर ऋषिकेश घूमने आया। रविवार की सुबह  ग्रुप के नौ सदस्य राम झूला घाट पर पहुंचे। इस दौरान एक व्यक्ति हाथ धोने गंगा में गया, अचानक रेत में उसका पैर फिसला और वह बहने लगा। उसे बचाने के लिए उसका साथी आगे गया तो वह भी गंगा के तेज बहाव में डूब गया। 


उक्त सूचना प्राप्त होते ही SDRF रेस्क्यू टीम तुरन्त घटनास्थल पर पहुची एवम सर्च एवम रेस्क्यू आपरेशन शुरू किया गया। राफ्ट के साथ टीम द्वारा कई किलोमीटर की खाक छान दी गयी है परन्तु लापता व्यक्तियों का अभी तक कोउ सुराग नही मिल पाया है।


SDRF डीप डाइविंग टीम इंचार्ज उप निरीक्षक कवीन्द्र सजवाण द्वारा बताया गया कि  नोएडा से जब यह लोग यहां पहुंचे तो सुबह यह सभी दर्शन महाविद्यालय घाट पर गए। यहां इनमें शामिल कंपनी का सेंटर हेड राहुल सिंह (33 वर्ष) पानी में हाथ धोने के लिए उत्तरा। यहां पानी के भीतर तेज बहाव है, राहुल के खड़े होने पर पैर के नीचे रेत अचानक धंस गई और राहुल अपना संतुलन खो बैठा। वह गंगा में बहने लगा।वहां मौजूद कंपनी का मैनेजर भानुमूर्ति (33 वर्ष) राहुल को बचाने के लिए गंगा में उतरा। वह भी गंगा के तेज बहाव की चपेट में आ गया। कुछ दूर जाने के बाद दोनों गंगा के पानी में गायब हो गए। 

SDRF और स्थानीय पुलिस  की टीम आसपास क्षेत्र में दोनों को गंगा में तलाश रही है। जिनका अभी तक पता नहीं चल पाया है।

Post a Comment

Powered by Blogger.