Halloween party ideas 2015

 

देहरादून :


युवाओं को स्वरोजगार से जोडते हुए आत्मनिर्भर बनाने हेतु प्रदेश के विभिन्न जनपदोें में स्वरोजगार शिविर आयोजित कर राज्यवासियों को लाभान्वित किया जा रहा है। इसी परिपेक्ष्य में आज जनपद देहरादून में अवस्थित महिला आईटीआई प्रागंण में आयोजित मेगा स्वरोजगार शिविर का माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा रिबन काटकर शुभारम्भ किया। शिविर में एमएसएमई-2015 के अन्तर्गत 01, एमएसवाई से 12 लाभार्थियों, पीएमजीपी के अन्तर्गत 5 लाभार्थियों तथा पशुपालन, कृषि एवं मध्यम उद्योग के अन्तर्गत 16 लाभार्थियों को माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा ऋण वितरण चैक प्रदान किये गये। 


 

इस अवसर पर माननीय मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि उद्योग आगे बढ़े इसके लिए स्वरोजगार एवं उद्योग धंधे स्थापित करने हेतु नीतियों को सरल किया जा रहा है जिससे राज्य के युवाओं को उद्योग धंधे स्थापित करने के लिए अभिलेखीय कार्यवाही के लिए भटकना ना पड़े। उन्होंने कहा कि औपचारिकताएं जितनी कम होगीं उतना ही स्थानीय निवासियों को योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने सभी विभागों एवं संबंधित अधिकारियों को प्रक्रियाएं सरल बनाने के निर्देश दिए जिससे विभिन्न कार्यों हेतु आने वाले व्यक्तियों /फरियादियों को अनावश्यक ना भटकना पड़े। उन्होंने कहा कि राज्य में रोजगार के अवसर पैदा करना सरकार की प्रमुख जिम्मेदारियों में है जिसके फलस्वरूप राज्य में सरकारी विभागों में रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया चल रही है इसके साथ ही केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित स्वरोजगार योजनाओं एवं मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना, से युवाओं को जोडकर आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही रोजगार देने वाला बनाने की सोच के साथ कार्य किया जा रहा है उन्होंने कहा कि जल्द ही स्वरोजगार नैनो योजना पर कार्य चल रहा है, जिससे छोटे उद्यमियों को लघु उद्योग के लिए 50 हजार तक का ऋण 20 हजार की सब्सिडी के साथ मिलेगा। जिससे लघु उद्यमियो को अपना रोजगार स्थापित करने में मदद मिलेगी।  उन्होंने इस दौरान ऋण योजनाओं से लाभान्वित हुए व्यक्तियों एवं समूहों को शुभकामनाएं देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की। 

इस अवसर पर सैनिक कल्याण एवं उद्योग मंत्री उत्तराखण्ड सरकार गणेश जोशी ने मेगा रोजगार शिविर में प्रतिभाग करने पर माननीय मुख्यमंत्री के साथ ही राज्यवासियों एवं सभी गणमान्य व अधिकारियों का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की है जिसके अन्तर्गत 113 करोड़ के ऋण स्वरोजगार हेतु दिए गए हैं। तथा लगभग 8 हजार इकाई खोली गई है जिनके अन्तर्गत लोगो को रोजगार प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं के लिए माइक्रो ऋण योजना लाई जा रही है जिससे युवाओं को छोटे-छोटे ऋण लघु / सू़क्ष्म उद्योग के लिए मिल सकेंगे। उन्होंने युवाओं को स्वरोजगार से जुड़ने का आहवान किया। 

इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक खजान दास ने रोजगार व स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए माननीय मुख्यमंत्री जी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि सरकार राज्य वासियों को आत्मनिर्भर एवं स्वरोजगार से जोड़ने हेतु प्रतिबद्ध है। उन्होंने मुख्यमंत्री जी द्वारा स्वरोजगार हेतु अभिलेखीय प्रक्रिया सरल बनाने को एक बहुत अच्छी पहल बताया जिससे राज्यवासियों को इसका लाभ के साथ ही अनावश्यक औपचारिकताओं से छुटकारा मिलेगा। 

इस अवसर पर  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, माननीय मंत्री गणेश जोशी, क्षेत्रीय विधायक खजान दास, जिलाधिकारी डाॅ0 आर राजेश कुमार एवं मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल ने आयोजन स्थल पर लगे सभी विभागों के स्टाॅल का अवलोकन किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को स्टाॅल पर आने वाले लोगों को विभाग में संचालित विभिन्न योजनाओं के संबंध में जानकारी देने तथा पूर्ण प्रक्रिया समझाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि शासन-प्रशासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं, स्वरोजगार योजनाओं का लाभ पात्रों तक पहुंचाने एवं विभिन्न दूरस्थ एवं ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान हेतु विभिन्न अधिकारियों के भ्रमण कार्यक्रम निर्धारित किए गए हैं ताकि संबंधितों की समस्या का निराकरण मौके पर ही किया जा सकें। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल एवं संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

मेगा स्वरोजगार शिविर में उद्योग, पर्यटन, दुग्ध, उरेडा, उद्यान, एनआरएलएम, समाज कल्याण, कृषि, खादी ग्राम उद्योग, मत्स्य, रोजगार विभागों के साथ ही विभिन्न बैंकों यथा एसबीआई, पीएनबी, को-आपरेटिव, बैंक आॅफ बड़ोदा, यूको बैंक द्वारा लगाये गये स्टाॅल पर लाभार्थियों द्वारा स्वरोजगार योजना के आवेदन एवं बैंक ऋण प्रक्रिया से रुबरु होते हुए विभिन्न विभागों की संचालित योजनाओं के लिए आवेदन प्राप्त किए। जिनमें उद्योग विभाग में 50, पर्यटन विभाग ने विभिन्न योजनाओं से संबंधित 84 आवेदन वितरित किए तथा लोगों को आवेदन प्रक्रिया की समस्त प्रक्रियाओं की जानकारी दी। इसी प्रकार ग्रामद्योग पीएमइजीपी के अन्तर्गत 06, एमएसवाइ के अन्तर्गत 21, दीन दयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना के अन्तर्गत 18, दुग्ध विभाग के अन्तर्गत 35 आवेदन, समाज कल्याण विभाग की स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत 25 आवेदन पत्र वितरित किए गए। तथा पशुपालन विभाग 30 प्रतिभागियों के स्वरोजगार प्रोजेक्ट के आवेदन पत्र प्राप्त किए गए तथा मत्स्य, कृषि, उरेडा, अल्पसंख्यक कल्याण आदि विभागों के स्टाॅल पर लोगों द्वारा योजनाओं की जानकारी प्राप्त करते हुए आवेदन पत्र प्राप्त किए।  इसके साथ ही आयोजन स्थल पर विभिन्न बैंकों द्वारा स्थापित स्टाॅल पर लगभग 200 लोगों को ऋण संबंधी जानकारी उपलब्ध कराई गई। इस अवसर पर लगभग 1500 लोगों द्वारा स्वरोजगार शिविर में प्रतिभाग कर विभिन्न विभागों की योजना प्राप्त की।  

इसके अतिरिक्त सेवायोजन कार्यालय द्वारा क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय देहरादून परिसर में आयोजित रोजगार मेले में 18 कम्पनियों/नियोजकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। मेले में कुल 994 अभ्यर्थियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। 195 अभ्यर्थी अंतिम रूप से चयनित किये गये तथा 86 अभ्यर्थियों का चयन द्वितीय साक्षात्कार के लिये हुआ। 108 सेवा में 10, फेबसोल में 15, आईलीड एक्सलरी सर्विस प्राईवेट लिमिटेड मे 50, स्पेस इन्टरनेशनल में 15, आईपीसीए में 02, लास्ट माइड टैªकर प्राईवेट लिमिटेड में 05, डिक्शन में 02, सोलटेक में 14, रोक्मैंन में 20, स्विगी में 30, इंडियन स्टार्टटप्स ओरगेनाईजेशन में 03 तथा एलआईसी में 29 प्रतिभागियों का चयन हुआ।सभी अभ्यर्थियों को स्वरोजगार/कॅरियर काउसिलिंग दी गयी।



Post a Comment

Powered by Blogger.