Halloween party ideas 2015

  •  बंजारा वाला के पास नाले के तेज बहाव में कार बही, एक को निकाल लिया गया था ,सुरक्षित जबकि दूसरा युवक हो गया था लापता- लापता युवक का शव एसडीआरएफ  ने किया बरामद
  • श्री पुष्पक ज्योति,  पुलिस महानिरीक्षक, एसडीआरएफ़ महोदय द्वारा किया एसडीआरएफ वाहिनी का भ्रमण और निरीक्षण


दिनाँक 10 सितंबर 2021 को प्रातः 0042 बजे आपदा कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा बंजारावाला काली मंदिर के पास सड़क पर पानी आ जाने के कारण एक कार नाले में फंस गई है जिसमें 2 व्यक्ति सवार थे। उक्त सूचना पर पोस्ट सहस्त्रधारा हेड कांस्टेबल हर्षवर्धन कंडारी के हमराह रेस्क्यू टीम तत्काल रेस्क्यू हेतु घटनास्थल के लिए रवाना हुई।  

उक्त वाहन में 02 लोग सवार थे जिसमें से राहुल उम्र 29 वर्ष R/o राजपुर को ग्रामीणों व जिला पुलिस द्वारा सकुशल निकाल लिया गया था जबकि एक अन्य नमन उम्र 30 वर्ष ,रायपुर के लिए सर्चिंग अभियान चलाया गया। रात्रि में उक्त युवक का कुछ पता नही चल पाया।

एसडीआरएफ टीम द्वारा प्रातः पुनः सर्चिंग ऑपरेशन चलाया गया। गहन सर्चिंग के दौरान घटनास्थल से लगभग 05 किमी आगे पैदल सर्च करते हुए दूधली गांव जिला, देहरादून के पास से उक्त युवक का शव बरामद कर सिविल पुलिस के सुपर्द किया गया।


श्री पुष्पक ज्योति,  पुलिस महानिरीक्षक, एसडीआरएफ़ महोदय द्वारा किया एसडीआरएफ वाहिनी का भ्रमण और निरीक्षण




  आज दिनांक 10 सितम्बर 2021को पुलिस महानिरीक्षक, एसडीआरएफ  श्री पुष्पक ज्योति  द्वारा  एसडीआरएफ वाहिनी  जोलीग्रांट का निरीक्षण एवंम भ्रमण किया गया, यह   पुलिस महानिरीक्षक ,एसडीआरएफ पद पर पदभार ग्रहण करने के उपरांत  का प्रथम भ्रमण कार्यक्रम था।

वाहिनी आगमन पर पुलिस महानिरीक्षक, एसडीआरएफ का  सलामी के साथ मान प्रणाम किया गया।कार्यक्रम की शुरुआत में सेनानायक एसडीआरएफ  नवनीत सिंह द्वारा  वाहिनी का प्रस्तुतिकरण डिजिटल रूप के साथ किया, जिसके माध्यम से वाहिनी की संरचना, कार्य उद्देश्य, रूपरेखा कोविड काल के दौरान उपलब्धियाँ, प्रशिक्षण, भविष्य की कार्ययोजना एवम जनजागरूकता अभियानों पर  चर्चा की गयी। 

इसके उपरांत जवानों का सैनिक सम्मेलन लिया एवम संवाद किया गया। जवानों से उनकी समस्या पूछी गयी साथ ही  एसडीआरएफ से सम्बंधित बेहतरीन कार्यो पर सुझाव मांगे.

अपने संवाद में  कहा कि एसडीआरएफ  ने अल्प समय मे देश एवम प्रदेश में जो मुकाम हासिल किया है ,वह अति सराहनीय है। एसडीआरएफ  के गठन के पश्चात एसडीआरएफ  ने आपदा प्रबंधन की नई परिभाषा  रची है नए मुकाम हासिल किए है विश्वास की  नई गाथाएँ बनाई है  अत्यंत कम समय में शीर्षतम बलों की उपस्थिति में  एसडीआरएफ को अन्य प्रदेशों में रेस्कयू हेतु बुलाया जाना प्रदेश के लिए गर्व का विषय रहा है ।

 इसलिए हमारी जिम्मेदारी और बढ़ गयी है ,जिसमे हमे खरा उतरना है। भूतकाल में हुई समस्त आपदाओं का गहनता से अध्ययन कर हमें अपनी वर्तमान कार्यदक्षता में वृद्धि के लिए सतत प्रयासरत रहने की आवश्यकता है। 


                 SDRF ने रेणी आपदा, महाकुम्भ ,  कोरोना द्वितीय लहर इत्यादि में अपने कार्यो से आम जनमानस में एक अलग छवि स्थापित की है जिसके लिए महोदय द्वारा समस्त  SDRF एवम  सेनानायक ,श्री नवनीत सिंह को विशेषतौर पर बधाई दी गयी। 

महोदय द्वारा  वाहिनी के निर्माण कार्यों का भी विस्तृत  निरीक्षण  किया गया, जहां महोदय ने  निर्माण कार्यों  की वस्तुस्थिति के बारे में पूछा गया  व प्रोजेक्ट की आधुनिकता की सराहना की गई और निर्माण कार्यों को समय से पूर्ण करने व  गुणवत्ता को उच्च स्तरीय रखने हेतु निर्देशित किया गया।

वाहिनी भ्रमण एवम निरीक्षण के दौरान पुलिस महानिरीक्षक महोदय के साथ ही  श्री नवनीत सिंह सेनानायक SDRF, श्री राजीव रावत शिवीरपाल SDRF,   निरीक्षक प्रमोद रावत,निरीक्षक अमित चौहान, निरीक्षक ललिता नेगी, निरिक्षक हरक सिंह राणा,निरिक्षक संजय रौथाण, उप-निरीक्षक जयपाल राणा, उप-निरीक्षक विजय रयाल,उप-निरीक्षक नीरज शर्मा इत्यादि मौजूद थे।



Post a Comment

Powered by Blogger.