Halloween party ideas 2015

 देहरादून:



राजधानी में हलचल चलते ही नए मुख्यमंत्री के लिए नए-नए चेहरों के नाम सामने आने लगे हैं किसी के अनुसार उच्च शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत का नाम ,किसी के अनुसार पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के नाम की चर्चा की है। परंतु आपको यहां बता दें कि कुमाऊं के उधमसिंह नगर से पुष्कर सिंह धामी का नाम नए मुख्यमंत्री के चेहरे के लिए सबसे उपयुक्त समझा गया है ।

धामी बीजेपी के 2 बार के उधमसिंह नगर खटीमा से विधायक है। वे युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके है।

धामी बीजेपी के 2 बार के खटीमा से विधायक है। वे युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके है।




पुष्कर सिंह धामी का जन्म पिथौरागढ़ के टुंडी गांव में हुआ। गांव में शुरुआती पढ़ाई करने के बाद उन्होंने लखनऊ यूनिवर्सिटी से उच्च शिक्षा हासिल की। धामी पोस्ट ग्रेजुएट हैं। उनके पास मानव संसाधन प्रबंधन में मास्टर डिग्री है। पुष्कर सिंह धामी कॉलेज के दिनों में ही एबीवीपी से जुड़ गए थे। लखनऊ विश्वविद्यालय में धामी छात्र समस्याओं को उठाने के लिए जाने जाते थे। साल 1990 से 1999 तक वो एबीवीपी में विभिन्न पदों पर रहे।

छात्र राजनीति के दिनों में वो यूपी में एबीवीपी के प्रदेश महामंत्री भी रहे हैं। पुष्कर सिंह धामी के पिता सेना में थे, इसलिए समाज और देश के लिए कुछ करने की शिक्षा उन्हें परिवार से मिली। 

इससे पहले त्रिवेंद्र सिंह रावत को बीजापुर गेस्ट हाउस में बुलाया गया था। जिसमें यह भी कयास लगने लगा था कि त्रिवेंद्र सिंह रावत को ही दोबारा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री की कमान दी जा सकती है कि 2022 के चुनाव के मद्देनजर उनसे बेहतर उम्मीदवार भाजपा को मिल नहीं सकता है जो कि भाजपा को जिताने का दम रखता हो। परंतु  पूर्व मुख्यमंत्री ने त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस रेस में आने से इनकार किया है।

Post a Comment

Powered by Blogger.