Halloween party ideas 2015





देहरादून:

आज जनपद देहरादून में आपदा प्रबंधन  का नकली अभ्यास चल रहा है। जनपद आपदा प्रबंधन कंट्रोल रूम को अभी सूचना प्राप्त हुई है कि रिस्पना पुल से सटे इलाकों में बाढ़ आने के चलते लगभग 150 से 200 के बीच व्यक्तियों के फंसे होने की सूचना है। 

इसी तरह से कालसी में बादल फटने की सूचना है जिससे बड़े पैमाने पर भूस्खलन आया हुआ है और वहां पर काफी ज्यादा इंफ्रास्ट्रक्चर और अन्य नुकसान होने की सूचना है।

भारी बारिश के कारण चुना भट्टा के पास रिस्पना नदी में बाढ़ जैसी स्थिति हो गई है कुछ लोगो के फंसे होने की सूचना प्राप्त हुई है।  कृपया संबंधित विभाग आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें।

भारी वर्षा के कारण कालसी चकराता मोटर मार्ग में झझरेड के पास मार्ग अवरुद्ध हो गया है तथा कुछ लोगो के फंसे होने की सूचना है।

जनपद आपदा कंट्रोल रूम को जनपद के रिस्पाना नदी में बाढ़ और कालसी के जजरेड क्षेत्र में बादल फटने से आए भूस्खलन  की सूचना प्राप्त होने के उपरांत जिलाधिकारी डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव जनपद कंट्रोल रूम में पहुंच चुके हैं और उनके साथ ही मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती नितिका खंडेलवाल, अपर जिलाधिकारी प्रशासन वीर सिंह बुदियाल तथा अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गिरीश गुणवंत, आर्मी के कर्नल श्री एस के शंकर साहब के साथ ही विभिन्न विभागों के अधिकारी जनपद आपदा कंट्रोल रूप में मौके पर तैनात हो चुके हैं। 

जिलाधिकारी ने कंट्रोल रूम की कमान संभालते हुए विभिन्न विभागों को संबंधित क्षेत्रों में तत्काल रेस्क्यू करने के लिए अपने संपूर्ण संसाधनों के साथ पहुंचने के निर्देश दिए हैं। जनपद आपदा कंट्रोल रूम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  योगेंद्र रावत भी मौजूद हैं

रिस्पान नदी में आए बाढ़ केयर रेस्क्यू के लिए संबंधित विभागों की टीमें मौके पर पहुंच चुकी है और रेस्क्यू का कार्य कर रही है। रिस्पना नदी के किनारे जो परिवार खतरों की जद में हैं.  उन बचाव कर चूना भट्टा  बसेरा में 200 लोगों को भेजा गया है . सभी के रहने खाने की खाने की व्यवस्था की जा रही है. रिस्पना नदी में अंतिम रूप से खोज अभियान चला जा रहा है



Post a Comment

Powered by Blogger.