Halloween party ideas 2015

 

हल्द्वानी :


 नेता प्रतिपक्ष, क्षेत्रीय विधायक एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री स्व0 डा0 श्रीमती इन्दिरा हृदयेश सोमवार को पंचतत्व मे विलीन हुई। रानीबाग स्थित चित्रशिला घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अन्तिम संस्कार किया गया। मुखाग्नि उनके पुत्र सुमित हृदयेश, संजीव शर्मा तथा सौरभ शर्मा द्वारा दी गई।

 पूरे राजकीय सम्मान के साथ दिवंगत स्व0 हृदयेश का अन्तिम संस्कार रानीबाग चित्रशिला घाट पर किया गया। पुलिस के जवानों द्वारा उन्हें सलामी दी गई। अन्तिम विदाई के दौरान अपार जनसमुह अन्तिम संस्कार मे उमडा तथा लोगों ने अश्रुपूरित नेत्रों से अपने प्रिय नेता को विदाई दी तथा जब तक सूरज चांद रहेगा इन्दिरा तेरा नाम रहेगा का उद्घोष भी किया।  



डा0 इन्दिरा हृदयेश के पार्थिक शव पर  उनके आवास संकलन में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिह रावत, शहरी विकास मंत्री श्री बंशीधर भगत, प्रदेश अध्यक्ष भाजपा श्री मदन कौशिक, सांसद श्री अजय भटट, अध्यक्ष जिला पंचायत बेला तोलिया, मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला ने स्वर्गीय हृदयेश के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर  उन्हें श्रद्वांजलि दी। 

अपनी संवेदना व्यक्त करते हुये मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि वरिष्ठ राजनेता एवं नेता प्रतिपक्ष डा0 इन्दिरा हृदयेश के निधन से प्रदेश को जो क्षति हुई है उसकी भरपाई निकट भविष्य मे सम्भव नही है। उन्होने कहा डा0 हृदयेश ने पिछले चार दशकों से उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखण्ड की राजनीति मे बडी भूमिका निभाई है वे एक कुशल प्रशासक, वरिष्ठ राजनैतिज्ञ तथा संसदीय ज्ञान की अच्छी जानकार थी। विकास कार्यो के लिए सदैव तत्पर रहती थी। उन्होने जीवन की आंखरी सांस तक जनसेवा की और विधायक, एमएलसी मंत्री तथा नेता प्रतिपक्ष के रूप में सेवाएं देकर जनसेवा की विशाल विरासत को छोडा है। डा0 हृदयेश प्रदेश का एक मजबूत स्तम्भ रही है। लम्बे समय तक उनके कार्यो को याद रखा जायेगा। श्री रावत ने कहा कि स्व0 इन्दिरा हृदयेश की स्मृति मे किसी बडे विकास कार्य का नामकरण किया जायेगा। 

अन्तिम संस्कार से पूर्व डा0 हृदयेश का पार्थिव शरीर को उनके आवास संकलन तथा स्वराज आश्रम मे जनता के लिए अन्तिम दर्शन के लिए रखा गया। जहां बडी संख्या मे पहुचकर लोगों ने अपने प्रिय नेता के अन्तिम दर्शन किये तथा श्रद्वासुमन अर्पित कर उनको अन्तिम विदाई दी। 

गौरतलब है कि विगत रोज रविवार को डा0 हृदयेश का  दिल्ली मे निधन हो गया था, रविवार की देर सांय उनका पार्थिव शरीर उनके आवास संकलन हल्द्वानी पहुंचा। 

चित्रशिला घाट में समाज कल्याण एवं परिवहन मंत्री यशपाल आर्य, शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डे,सांसद प्रदीप टम्टा,पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत,पूर्व विधान सभा अध्यक्ष गोविन्द सिह कुंजवाल, पूर्व केैबिनेट मंत्री हरीश चन्द्र दुर्गापाल,प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस प्रीतम सिह, पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, विधायक राजकुमार ठुकराल, संजीव आर्य, राजेश शुक्ला, रामसिह कैडा, आदेश चैहान, पुष्कर धामी, हरीश धामी,नवीन दुम्का, काजी मो0 निजामुद्दीन,देशराज कर्णवाल,पूर्व सांसद बलराज पासी, डा0 महेन्द्र सिह पाल, उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक आयोग मजहर नईम नवाब,जिलाध्यक्ष भाजपा प्रदीप बिष्ट, पार्षद प्रमोद तोलिया,जिलाध्यक्ष कांगे्रस सतीश नैनवाल, प्रदेश प्रवक्ता भाजपा प्रकाश रावत,पूर्व दर्जामंत्री रेनू अधिकारी, अजय राजौर,तरूण बंसल, पूर्व विधायक दान सिह भण्डारी, नारायण पाल,ललित फर्सवाण, प्रदेश प्रभारी कांगे्रस देवेन्द्र यादव के अलावा दीपक बलूटिया, हेमवती नन्दन दुर्गापाल, हेमन्त बगडवाल, मयंक भटट, नवीन वर्मा, आरसी बिंजौला, हाजी मो0 अकरम, कमल कफलटिया, टीटू शर्मा, महेश जोशी, हेमन्त साहू के अलावा आयुक्त कुमाऊ एवं सचिव माननीय मुख्यमंत्री अरिवन्द सिह हृयांकी,आईजी अजय रौतेला, जिलाधिकारी धीराज सिह गर्व्याल, एसएसपी प्रीति प्रियदर्शनी,संयुक्त सचिव मा. मुख्यमंत्री डा0 पराग मधुकर धकाते सहित अनेक गणमान्य लोगों ने एवं  अधिकारियों ने स्व0 डा0 इन्दिरा हृदयेश को पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्वंाजलि दी।  

Post a Comment

Powered by Blogger.