Halloween party ideas 2015

 24 मई को खुलेंगे श्री मदमहेश्वर भगवान के कपाट।



उखीमठ :



 पंचकेदार में प्रसिद्ध द्वितीय केदार  भगवान श्री मदमहेश्वर जी की चलविग्रह डोली आज प्रात:  शीतकालीन गद्दी स्थल श्री  ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से कल  अपने धाम श्री मदमहेश्वर हेतु प्रस्थान हो गयी थी।कल प्रथम पड़ाव श्री राकेश्वरी मंदिर रांसी के बाद  आज 23 मई  को गोंडार गांव तथा 24 मई को प्रात:  मदमहेश्ववर पहुंचेगी तथा 24 मई  को दिन में श्री मदमहेश्वर जी के कपाट खुलेंगे।

भगवान मदमहेश्वर जी की डोली  20 मई को सभामंडप में आ गयी थी तथा इसी दिन भगवान को नये अनाज का भोग लगाया गया।

 कल डोली  मंगलचोरी तक पैदल पहुंची  जहां  रावल भीमाशंकर लिंग ने  डोली पूजा अर्चना की तथा धाम के लिए विदा किया‌‌। रांसी तक डोली वाहन रथ से प्रस्थान कर रही है।इस अवसर पर देवस्थानम बोर्ड के कार्याधिकारी एन.  पी. जमलोकी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी राजकुमार नौटियाल, कोषाध्यक्ष  आर.  सी. तिवारी, डोली प्रभारी यदुवीर पुष्पवान, पारेश्वर त्रिवेदी, पुजारी शिवलिंग चपटा, देवीप्रसाद तिवारी, पुष्कर रावत,मृत्युंजय हीरेमठ,  प्रेमसिंह रावत,राजेन्द्र पंवार, विदेश शैव, प्रमोद कैविश तथा तीर्थ पुरोहितगण हकहकूकधारी प्रतिनिधि शामिल थे। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि श्री मदहमेश्वर जी की डोली के के प्रस्थान के समय कोविड प्रोटोकोल का सख्ती से पालन किया गया। तथा भगवान मदमहेश्वर जी की डोली के साथ 

देवस्थानम बोर्ड के पांच कर्मचारी साथ में है।


Post a Comment

Powered by Blogger.