Halloween party ideas 2015

 हरिद्वार:



कोरोना काल के प्रथम दिन से ही जनसमाज को समर्पित सेवा दे रहे ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालय के प्रोफेसर/विभागाध्यक्ष/रेड क्रास सचिव डा0 नरेश चौधरी को समर्पित कोरोना वारियर के रूप में सम्मानित किया गया। 

पर्यटन एवं सिंचाई मंत्री/जनपद हरिद्वार प्रभारी मत्री सतपाल महाराज एवं गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री यतीश्वरानंद ने संयुक्त रूप से डा0 नरेश चौधरी को कोरोना वारियर से सम्मानित किया। कोविड-19 महामारी ने जैसे ही जनपद हरिद्वार में दस्तक दी, उसी दिन से पूर्व की आपदाओं में किये गये उल्लेखनीय कार्यों के अनुभवोें को दृष्टिगत रखते हुए विभिन्न दायित्व यथा मेडिकल सुविधाओं एवं आवश्यक व्यवस्थाओं के प्रबन्धन हेतु प्रभारी, प्रशिक्षण प्रभारी, प्रवासियों को गंतव्य स्थानों तक पहुंचाने के लिये सुगम व्यवस्थाओं हेतु बनाये गये हेल्प डेस्कों के प्रभारी, नाना-नानी,दादा-दादी सुरक्षित अभियान के नोडल अधिकारी, कोरोना रोगी भर्ती के नोडल अधिकारी आदि विभिन्न दायित्व जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा डा0 नरेश चौधरी को दिये गये।


 इन सभी दायित्वों का निर्वहन डा0 नरेश चौधरी द्वारा पूर्व निष्ठा एवं कर्मठता पूर्वक किया जा रहा है। जिसकी सराहना सम्पूर्ण जन समाज में जगह जगह हो रही है। वैक्सीनेशन का कार्य जनपद हरिद्वार में प्रारम्भ होने के प्रथम दिन से ऋषिकुल राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय में स्थापित 12 वैक्सीनेशन सेन्टर का नोडल अधिकारी का दायित्व भी डा0 नरेश चौधरी को दिया गया, उक्त वैक्सीन सेन्टरों पर हेल्थ वर्करस, फ्रंट लाईन वर्करस, कुम्भ मेला फ्रन्ट लाईन वर्करस, पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बल, साधु संतों, स्वयं सेवकों, वरिष्ट नागरिक एवं 45 वर्ष से अधिक आयु के लाभार्थियों को वैक्सीन लगायी जा रही है, जिसमें डा0 नरेश चौधरी अपनी रेड क्रास टीम के साथ बढ चढकर वैक्सीनेशन का कार्य उत्कृष्ट रूप से करा रहें है। जिसके लिये सभी लाभार्थियों द्वारा भूरी-भूरी प्रशंसा की जा रही है।


 पर्यटन एवं सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने डा0 नरेश चैधरी को सम्मानित करते हुए कहा कि कोविड-19 जैसी वैश्विक भीषण महामारी में समर्पण भावना से उत्कृष्ठ कार्य करने के लिये सम्मानित किया जाना गौरव की बात है, उक्त प्रकार के सम्मान से अन्य अधिकारियों एवं स्वयं सेवकों को भी प्रेरणा मिलती है कि यदि आपदाओं में दृढ संकल्प से अगर कोई कार्य किया जाये तो बडी से बडी आपदा/महामारी को नियंत्रित करते हुए बचा जा सकता है। पर्यटन एवं सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि डा0 नरेश चैधरी को एक साथ उत्तराखण्ड शासन के दो मंत्रियों द्वारा सम्मानित किया गया है जिससे अब डा0 नरेश चौधरी दोगुनी ऊर्जा से भविष्य में भी जनसमाज की सेवा करेंगे और अन्य अधिकारियों एवं स्वयं सेवकों के लिये प्रेरणा स्त्रोत होंगे। 


गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री यतीश्वरानंद ने कहा कि डा0 नरेश चौधरी के सेवा कार्यों को मैंने वर्षों से देखा है और वे अपने उल्लेखनीय सेवा कार्यों से जनपद हरिद्वार का तो नाम रोशन करते हीं हैं और इसके साथ ही डा0 नरेश चौधरी द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों से हमारे उत्तराखण्ड प्रदेश का भी नाम रोशन होता है। ज्ञात हो कि कोरोना काल मे प्रथम दिन से हीं जनता कफ्र्यु के दौरान श्रद्धालु यात्रियों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना, उनको उनके गंत्वय स्थानों तक पहुंचवाना, राहत सामग्री वितरण, प्रवासियों को उनके गंत्वय स्थानों में पहुंचवाने में विशेष सहयोग, जनसमाज को कोरोना महामारी से बचाव हेतु जागरूक करना, जनपद हरिद्वार में दादा-दादी, नाना-नानी को सुरक्षित करने के लिये डोर टु डोर सर्वेक्षण कार्यो में सहयोग, कोरोना संक्रमित रोगियों को सी0सी0सेन्टरस ,कोविड-19 चिकित्सालयों मे ंभर्ती कराने में सराहनीय सहयोग किया जा रहा है।


 कोविड-19 की दूसरी लहर प्रारम्भ होने से ही कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु जनसमाज को जागरूक किया जा रहा है। कुम्भ मेला में भी अखाडों की पेशवाइयों में सम्मिलित श्रद्धालु यात्रियोे, साधु संतो एवं नागरिको को  कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु जागरूक करते हुए मास्क एवं सेनिटाइजर वितरित करने का कार्य भी विशेष उल्ल्ेाखनीय है। डा0 नरेश चौधरी को पूर्व में भी उत्कृष्ठ, उल्लेखनीय कार्यों के लिए महामहिम राष्ट्रपति, महामहिम राज्यपाल, उत्तराखण्ड शासन के माननीय मुख्यमंत्रियों , कैबिनेट मंत्रियों एवं उच्च अधिकारियों द्वारा भी सम्मानित किया जा चुका है। उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 डा0 सुनील कुमार जोशी ने विशेष रूप से डा0 नरेश चौधरी को बधाई देते हुये कहा कि डा0 नरेश चौधरी के उत्कृष्ट कार्यों के लिये प्राप्त सम्मान से उत्तराखण्ड आयुर्वेद विश्वविद्यालय का भी गौरव बढा है।

Post a Comment

Powered by Blogger.