Halloween party ideas 2015

 





वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से अपील की है कि वैक्सीन बर्बाद ना होने दें। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्यों को जितने भी वैक्सीन  चाहिए उन्हें उपलब्ध कराई जाएगी ।परंतु वह वैक्सीन की बर्बादी को रोके

 मध्य प्रदेश ,झारखंड राजस्थान ,पंजाब ,हरियाणा आदि राज्य से वैक्सीन बर्बादी के मामले सामने आ रहे हैं और यही कारण है कि कई स्थानों पर वैक्सीनेशन सेंटर बंद भी हो गए हैं।

 उत्तराखंड की ही बात ले ले तो यहां भी वैक्सीन की बर्बादी हो रही है ।जिसका मुख्य कारण स्लॉट बुकिंग के समय अन्य राज्यों के व्यक्तियों को छूट दिया जाना है। गणपति वेडिंग प्वाइंट डोईवाला में ही स्लॉट बुकिंग में 200 वैक्सीन की स्लॉट की बुकिंग की जाती है, जिसमें से आधे से अधिक व्यक्ति जो टीकाकरण के लिए आते हैं वह अन्य जनपदों  अथवा उत्तर प्रदेश से भी आ जाते हैं ।इन हालातों में कई व्यक्ति समय पर नहीं पहुंच पाते और वह वैक्सीन बर्बाद हो जाती है ।

जनप्रतिनिधियों के अनुसार वैक्सीन की बर्बादी को रोकने के लिए सरकार को चाहिए कि वह स्थानीय हेल्थ वर्कर्स या जनप्रतिनिधियों को ही उनके वैक्सीन के द्वारा ऑफलाइन मोड में टीकाकरण करवा दें ।

वैक्सीनेशन करने वाली  डॉ ज्योति का कहना है कि वैक्सीन का एक पैक  10 का होता है ।जो एक बार खुलने के बाद 2 घंटे बाद बेकार हो जाता है। यदि व्यक्ति समय पर नहीं पहुंच पाते हैं अथवा नहीं आते हैं तो  भी वैक्सीन खराब हो जाती हैं ।उन्होंने बताया कि 1 दिन में एक या दो वैक्सीन खराब हो जाती हैं ऐसे में व्यक्ति की बर्बादी को रोकने के लिए किसी प्रकार से उनके उपयोग की व्यवस्था की जानी चाहिए। डोईवाला मुख्य चिकित्साधिकारी के अनुसार अभी डोईवाला में 18 प्लस का टीकाकरण नही हो रहा है।भले आदेश  का इंतजार  है उन्होंने यह भी कहा कि दक्षिण के ऑफलाइन हो जाने पर जो वैक्सीन खराब हो जाती है वह भी नहीं होगी । उन्होंने कहा 44 प्लस वालों का डोईवाला में टीकाकरण जारी है।

 वहीं स्थानीय लोगों में आक्रोश है कि क्षेत्र में वैक्सीनेशन सेंटर बनने के बावजूद भी स्थानीय लोगों को ना तो स्लॉट बुकिंग हो पाती है और ना ही उनको टीका लग पा रहा है। लेकिन18 प्लस में यह मामला सबसे अधिक सामने आया है। जहां स्थानीय लोगों को ना के बराबर टीकाकरण हुआ है ।जिससे वह आक्रोश में है और एक ही केंद्र होने के कारण डोईवाला की बड़ी आबादी वैक्सीन की राह देख रही है। वार्ड10 सभासद ईश्वर  रौथाणने बताया कि उन्होंने उपजिलाधिकारी से इस विषय में बात भी की है कि वैक्सीन की बर्बादी को रोकने के लिए कोई ठोस उपाय किया जाना चाहिए और वैक्सीनशन के लिए ऑफलाइन  कार्य शुरू कर दिया जाना चाहिए ।अब देखना यह है कि केंद्र सरकार की अपील को उत्तराखंड राज्य सरकार किस प्रकार लेती है, ताकि वैक्सीन की बर्बादी रुक सके।


करो ना कॉल में वार्ड नंबर 10 के सभासद ईश्वर राठोर ने रौथान ने इंडिगो  एयरलाइन की सहायता से गरीब बच्चों में स्नेक्स बांटे जिसे पाकर बच्चे बहुत खुश हुए।









Post a Comment

Powered by Blogger.