Halloween party ideas 2015



बहुत दिनों से ही अनेक संस्थाओं में युवा कोरोना योद्धा की भांति प्लाज्मा दान कर रहे है और सरकार को लगातार सन्देश भी दे रहे थे कि प्लाज्मा दान को प्रोत्साहित किया जाये और हो सके तो इसे आवश्यक बना दिया जाये. आज मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत की इस अपील से निश्चय ही युवाओं के जोश में बढ़ोतरी होगी जिससे हमारे प्रदेश के लोगों की कोरोना संक्रमण से जान बच सकेगी .


कोविड संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं तो अपना रक्त प्लाज्मा अवश्य दान करें

चिकित्सकों के अनुसार, 18 से 60 आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति प्लाज्मा दान कर सकता है

कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए राज्य सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके लोगों का रक्त प्लाज्मा अन्य संक्रमित रोगियों के उपचार में सहायक सिद्ध हो रहा है। उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि यदि कोविड संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं तो अपना रक्त प्लाज्मा अवश्य दान करें, ताकि दूसरों की जान बचाई जा सके।

चिकित्सकों के अनुसार, रक्त प्लाज्मा का दान एक अत्यंत आसान प्रक्रिया है। 18 से 60 आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति प्लाज्मा दान कर सकता है और खास बात यह है कि प्लाज्मा दान करने से स्वास्थ्य पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।

चिकित्सकों का कहना है कि जब भी प्लाज्मा दान करें, इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पिछले 14 दिनों से आपमें किसी भी प्रकार के कोविड के लक्षण तो नहीं। प्लाज्मा दान करने से पहले चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें और जरूरी सावधानियां बरतें।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने अनुरोध किया है कि हिचकिचाएं नहीं, आगे आएं और रक्त प्लाज्मा का दान कर किसी कोरोना पीड़ित की जान बचाने में मदद कर अपनी जिम्मेदार भूमिका निभाएं।

Post a Comment

Powered by Blogger.