Halloween party ideas 2015

 संस्मरण 

जब मार्च 2021 मझे कोरोना हुआ।  

कोविड- 19 से सावधानी ही बचाव है।



 मेरानाम डा. हरीश गौड़ है। मैं ऋषिकेश उत्तराखंड में रहता हूं।सभी को मेरा सादर 🙏🙏 है सभी आरोग्य रहें स्वस्थ रहें।


 सारी दुनिया खासकर हमारे देश में कोरोना महामारी का दौर चल रहा है। ऐसे में सावधानी अपेक्षित है।   मास्क पहने ऐसा मास्क जिससे नाक मुंह ढका हो,  शोसियल डिस्टेंस रखें जैसाकि दो गज दूरी हेतु कहा जाता रहा है। हाथों को  20 सैकेंड तक साबुन से धोयें, सेनिटाईजर का प्रयोग करें। सरकार के वैक्सीनेशन का अंग बने निर्धारित आयु वर्ग के लोग कोरोना बचाव हेतु वैक्सीन जरूर लगाएं।

भीड़भाड़ में न जाये, शादी समारोहों में भीड़ न बढायें।

सर्दी खांसी, जुकाम, बुखार होने पर कोरोना जांच जरूर करवायें। बिल्कुल घबराये नहीं।

कोरोना पाजिटिव आने पर अपमानित महसूस न करें, धैर्य रखें। सकारात्मक रहे। ईश्वर पर भरोसा रखें। आईशोलेशन का पालन करें।

जो लोग स्वस्थ है कोरोना पाजिटिवों से भेदभाव न करें।

अधिकांश यह देखा जा रहा है जब कोई ब्यक्ति कोरोना पाजिटिव आ जाता है तो उसके बहिष्कार करने हेतु कई लोग गुटबाजी करते है। पाजिटिव आने पर सरकार की गाईडलाईन के तहत निश्चित होता है कि रोगी कोविड सेंटर, हास्पिटल या घर निवास स्थान पर आईशोलेट होगा।  याद रहे बीमारी किसी को भी हो सकती है । किसी की मदद नहीं कर सकते हो तो मौका पाकर धक्का न दें। तथा घृणा का माहौल तैयार न करें । बीमार भी हमारे परिवार, मुहल्ले, तथा समाज का अंग है।

यह देखे पूरी दुनिया बीमारी से लड़ रही है  डाक्टर, स्वास्थ्यकर्मी , पुलिस, सफाईकर्मी पर्यावरण मित्र देश की अदालतें, नेता अधिकारी  दिन रात एक कर कोरोना रोगियों को बचाने में लगे हैं। स्यंमसेवी संस्थायें कार्य कर रही हैं। 

 सभी का कहना यही है बाजार में सामान, दवाइयां अनावश्यक रूप से स्टोर न करें केवल आवश्यकतानुसार ही खरीदें। आक्सीजन सिलेंडर, दवाईयां, खाद्य सामग्री स्टोर कर हम बीमारी से जूझ रहे लोगों से अन्याय कर रहे हैं।


 कोरोना उपचार हेतु बताई गयी दवाइयां जरूर  खाएं लें। आवश्यकता होने पर डाक्टर से अपना चैकअप करायें। 


जब में पिछले  मार्च महीने कोरोना पाजिटिव हुआ था तो में एम्स हास्पिटल ऋषिकेश  (उत्तराखंड) गया वहां एमरजेंसी में एक दिन एडमिट के बाद वार्ड में शिफ्ट हुआ । वार्ड में कई  कोरोना मरीज अन्य राज्यों के भी थे जो हरिद्वार कुंभ में संक्रमित हुए थे।

कोरोना वार्ड में बाहरी ब्यक्तियों, परिचितों को आने की मनायी थी दूर से ही मिल सकते थे। कई मित्र मुझसे तथा अन्य पेसेंट से मिलने आये।

सात दिन दिनरात इलाज से कई मरीज ठीक हो गये। डाक्टरों ने कहा अब हास्पिटल में रहने की जरूरत नहीं है। मै  भी एम्स से डिस्चार्ज हुआ एक हप्ते आइसोलेशन में रहा अब स्वस्थ हूं। 


एम्स में ऐलोपैथिक इलाज के अलावा आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयुर्वेदिक इलाज भी चल रहा है तथा शोध कार्य भी जारी है।कई  प्रचलित नुस्खे बताये जा रहे है। योग एवं प्राणायाम पर जोर दिया जा रहा है। हल्दी नमक को गरम पानी में मिला  कर गरारे करने को कहा जा रहा है। इसके लिए भर्ती मरीजों को अस्पताल द्वारा गर्मपानी की बोतल तथा हल्दी, नमक के छोटे डिब्बे दिये जा रहे है।


बुखार, खांसी तथा अन्य लक्षण प्रकट होने पर लक्षणों के अनुसार इलाज हो रहा है गंभीर मरीजों को  आक्सीजन सपोर्ट,आईसीयू एवं वेंटिलेटर पर रखा जा रहा है।

सामान्य मरीज जल्दी-जल्दी ठीक होकर घर जा रहे हैं।


दवाईयों के अलावा जो सावधानियां डाक्टरों ने बतायी वह लिख रहा हूं।

• निर्धारित आयु वर्ग के सभी लोग वैक्सीनेशन जरूर करवाये

जैसाकि 45 वर्ष से अधिक उम्रवालों का वैकसीनेशन हो रहा है । 1 मई से 18 से 45 वर्ष के लोगों का वैक्सीनेशन प्रस्तावित है।

•सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार अन्य लक्षण  होने पर कोरोना टेस्ट जरूर करवायें।


•रिपोर्ट पाजिटिव आने पर दवाईया़ शुरू कर दें।


•सांस लेने में दिक्कत एवं निमोनिया की शिकायत पर तुरंत निकटवर्ती कोविड हास्पिटल में जायें। हेल्पलाईन से संपर्क करे।

•योग ध्यान प्रणायाम एवं नित्य ईश्वर की प्रार्थना, पूजा, इबादत करें अर्थात सकारात्मक बने रहें।

•सुबह शाम हल्दी में नमक  गरम पानी में मिलाकर गरारे करें।


•नीबू चाय, अदरक, सोंठ, काली मिर्च, शहद,का काढा बनाकर पियें। भोजन में लहसुन भी शामिल करें।


•सुबह शाम भाप लें। गर्म पानी पियें। दिन में दो लीटर तक पानी पिएं।


•गर्मपानी का प्रयोग करें।


 •कैलोरीयुक्त भोजन लें।

ताजे विटामिन सी युक्त फलों का सेवन करें।

•बुखार में अजवाईन का पानी पिएं

•गिलोय का रस पिएं

•डायरिया होने पर ओआरएस घोल बहुत प्रभावी है।

•मानसिक तनाव न रखें । 

•फोन आदि  वर्चवल माध्यमों से

लोगों के संपर्क में रहें।

• साफ सफाई का ध्यान रखें फिनाईल, सोडियम हाइपोक्लोराईट घोल से फर्स आदि की सफाई करें।


आप या आपका परिवार कोरोना के प्रभावित हो तो जल्दी स्वास्थ्य लाभ हो। यही प्रार्थना है कि हमारे देश एवं दुनिया से यह बीमारी का उन्मूलन हो।

( इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करने का कष्ट करें)



•डा. हरीश गौड़

Post a Comment

Powered by Blogger.