Halloween party ideas 2015

 



 

आज टीकाकरण के 523 सत्र हुए, जिसमे 20990 लोगों का टीकाकरण हुआ। 336700 लोगों को पूर्ण रूप से और 1530198 को अब तक अर्ध टीकाकरण हो चुका है।

 

                                                                          


उत्तराखंड में आज कोरोना पॉजिटिव के 4368 रिकॉर्ड मामले आये है। जिसे मिलाकर उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के कुल मामले अब 151801 हो गए हैं। जिसमें सक्रिय मामलो की संख्या 35864 है, आज 1748 लोग ठीक हो चुके है, कुल रिकवर मामलों की संख्या 110664 है। अभी तक 2146 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।आज उत्तराखंड में 44 कोरोना संक्रमितो की मृत्यु हुईहै।









33212 लोगों के सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव पाए गए हैं। अभी तक कुल 3422773 सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। 30132 की रिपोर्ट आनी बाकी है।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के ठीक होने की दर घटकर 72.90 % हो गयी है। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 163 कन्टेनमेंट ज़ोन है। 

देहरादून :
मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत ने कोविड वैक्सीन के लिये संबंधित कम्पनी को अविलंब डिमान्ड भेजने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द से जल्द प्रदेशवासियों का कोविड वैक्सीनैशन हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिये। इसके लिए संसाधनों की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कोविड की नियमित समीक्षा के क्रम में बीजापुर हाउस में आयोजित बैठक में ये निर्देश दिये। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज, श्री गणेश जोशी, राज्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूङी, सचिव श्री अमित नेगी, श्री शैलेश बगोली, डॉ पंकज कुमार पाण्डेय, डीआईजी श्रीमती रिद्धिम अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि आक्सीजन हमारे यहां पर्याप्त मात्रा में है। इसका सही तरीके से प्रयोग बहुत जरूरी है। यह सुनिश्चित किया जाए कि आक्सीजन के अभाव में प्रदेश में किसी मरीज की मृत्यु न हो। आक्सीजन प्लांट का पूरी क्षमता से उपयोग हो। आक्सीजन के लिए जरूरी सिलेंडरों की कमी न हो। कोविड टेस्ट करवाने वालों को तुरंत जरूरी किट उपलब्ध कराई जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की चेन को ब्रेक करने के लिए जनजागरूकता बहुत जरूरी है। साथ ही मास्क न पहनने या सोशल डिस्टेंसिंग की अवहेलना करने पर तुरंत कङी कार्रवाई करें। राज्य के बोर्डर पर और सख्त होने की जरूरत है। जिलाधिकारी, अपने यहां की स्थिति के अनुसार निर्णय ले सकते हैं।
सचिव डॉ पंकज पाण्डेय ने बताया कि 7 नये आक्सीजन प्लांट की मंजूरी मिली है। आठ पहले से एक्टिव हैं। और अधिक आक्सीजन कन्सन्ट्रेटर्स की व्यवस्था की जा रही है। राज्य में वर्तमान में आक्सीजन की कमी नहीं है।
पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भी अपने अनुभव साझा करते हुए सुझाव दिये।


 









Post a comment

Powered by Blogger.