Halloween party ideas 2015


  डोईवाला: 


क्षेत्र नें  स्थित कुड़कावाला मार्ग का नाम वीरांगना अवन्तिबाई लोधी नाम पर किया गया । जिसका उद्घाटन  डोईवाला के विधायक एवम  पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत  द्वारा किया गया।   वीरांगना अवन्तिबाई  लोधी के बलिदान दिवस के आयोजन पर उन्होंने दीप प्रज्वलित  किया।

उन्होंने नगरपालिका अध्यक्ष को बधाई देते हुए कहा कि किसी भी देश मे उनके  मान सम्मान के प्रतीक  होते है। लोधम से लोधी जाती हुई है जिसका अर्थ होता है पराक्रमी। देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में  उन्होंने अंग्रेजों के हाटों मरणा स्वीकार नही किया बल्कि आत्मबलिदान किए।

देश को आर्थिक रूप से तोड़ने के लिये वर्तमान में लड़ाई हो रही है। और उन्हें मानसिक रूप से कमजोर करने का कार्य किया जा रहा है।

 देश का चौथा राज्य है उत्तराखंड जहां कमांडो  की ट्रेनिंग दी है।उन्होंने कहा कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिये स्वयं सहायता समूह को  ऋण के साथ साथ रिवॉल्विंग फंड भी दिया।  महिलाएं अपने को अबला नही समझे। महिलाएं देश की शक्ति है। 

साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के लोग निर्माणकर्ता है। अतः हुनर को इस्तेमाल कर, रचनात्मक सोच के साथ स्वयम रोजगार स्थापित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश की चिंता के बाद अब उन्हें डोईवाला के कार्यों की चिंता रहेगी। चार वर्ष तक उन्होंने अपनी समस्त ताकत और मस्तिष्क की सहायता से जितना भी हो सका कार्य करने का प्रयास किया .चार वर्ष तक उन्होंने अपनी समस्त ताकत और मस्तिष्क की सहायता से जितना भी हो सका कार्य करने का प्रयास किया .अब डोईवाला की चिंता रहेगी।

 वीरांगना अवंती बाई लोधी का  1857 के स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान है ।रानी लक्ष्मी बाई के साथ-साथ वीरांगना अवंती बाई लोधी को भी अंग्रेजो के खिलाफ युद्ध में आत्म बलिदान के लिए जाना जाता है .20 मार्च 1899 को उनका बलिदान दिवस होता है.

इस अवसर पर राज्य मंत्री खेमपाल, वन राज्य मंत्री कर्ण वोहरा, जिला अध्यक्ष भाजपा शमशेर पुंडीर,  नगरपालिका अध्यक्ष सुमित्रा मनवाल, सभासद मनीष धीमान, सभासद  सुनीता सैनी, शिवानी लोधी ,नगीना रानी, भाजपा मीडिया प्रभारी सम्पूर्ण सिंह रावत आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन रामेश्वर लोधी ने किया।  



Post a comment

Powered by Blogger.