Halloween party ideas 2015

 हरिद्वार:



मेलाधिकारी दीपक रावत आज भूपतवाला स्थित दूधाधारी मैदान में पंचायती बड़ा उदासीन अखाड़ा की ओर से आयोजित भूमि पूजन में पहुंचे। यहां उन्होंने श्री महंत महेश्वरदास जी महाराज, महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज, महंत रघुवीरमुनि जी महाराज आदि के साथ भूमि पूजन किया।  

महाकुम्भ 2021 के अंतर्गत पंचायती बड़ा उदासीन अखाड़ा की ओर से दूधाधारी मैदान में सत्संग शिविर का आयोजन किया जाएगा। जिसके तहत बुधवार को यहां भूमि पूजन का आयोजन किया गया। इस मौके पर पंडित अम्बादत जी, पंडित तुलसीराम जी ने मेलाधिकारी दीपक रावत, आईजी कुम्भ संजय गुंज्याल व संतों के साथ भूमि पूजन कराया। इस मौके पर मेलाधिकारी दीपक रावत ने कहा कि संतों के आशीर्वाद से महाकुम्भ मेला सकुशल सम्पन्न होगा।

इस अवसर पर महंत दुर्गादास जी महाराज, कोठारी दामोदर दास जी महाराज, सचिव व्यास मुनि जी महाराज, स्वामी गोविंदानंद जी महाराज, स्वामी ओंकारानंद जी महाराज, पार्षद अनिरूद्ध भाटी, अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह, अपर मेलाधिकारी रामजी शरण शर्मा, उप मेलाधिकारी दयानंद सरस्वती आदि मौजूद थे।

 

 डाॅ0 पंकज पांडेय सचिव (प्रभारी) चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण व नोडल अधिकारी स्वास्थ्य कुंभ मेला 2021 ने आज कुंभ मेला से सम्बंधित स्वास्थ्य विभाग के कार्यों का स्थलीय निरीक्षण किया।

हरिद्वार:


 

  उन्होंने सबसे पहले दूधाधारी स्थित बाबा बर्फानी चैरिटेबल हास्पिटल में बने 500 बेड के कोविड यूनिट चिकित्सालय पहुंचकर स्वास्थ्य महकमें द्वारा की गई व्यवस्थाओं को परखा। 


मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डाॅ0 अर्जुन सिंह सेंगर ने बताया कि बाबा बर्फानी चैरिटेबल हाॅस्पिटल में 500 बेड की कोविड यूनिट बनी है। इसमें 40 डाॅक्टर, 225 पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती होगी। इसमें 22 बेड का आईसीयू भी बनाया जाएगा। सचिव ने कोविड यूनिट में सीसीटीवी कैमरा, शौचालय की संख्या और बढाते हुये मोबाइल टायलेट भी लगाने के निर्देश दिए।
डाॅ0 पांडेय ने मल्टीपैरा मानीटर विद आक्सीजन कन्सट्रशन मशीन और स्टाफ के रूकने के सम्बंध में अधिकारियों से जानकारी ली। अधिकारियों ने बताया कि होटल तथा आसपास के क्षेत्रों में ठहरने की व्यवस्था की जा रही है।
सचिव (प्रभारी) चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण ने पावनधाम में बने 150 बेड के बेस अस्पताल में सुविधाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने 11 मार्च के महाशिवरात्रि के स्नान से पहले अस्पताल को पूर्ण रूप से संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने निरीक्षण के दौरान आइसीयू में मानक के अनुसार पर्याप्त स्पेस रखने, माइनर ओटी, आपातकालीन विभाग, बर्न यूनिट, ट्रामा यूनिट में व्यवस्था, स्टाफ के रहने की जानकारी लेने के साथ ही स्टाफ के लिए आसपास ही ठहरने का प्रबंध करने को कहा। उन्होंने मरीजों को दिये जाने वाले भोजन, बायोमेडिकल वेस्ट का निस्तारण, अग्निशमन प्रबंधन, खाली स्थान में फूलों के पौधे लगाकर सौंदर्यीकरण करने, फूड सेफ्टी विभाग से खाने का सैंपलिंग कर परीक्षण कराने के भी निर्देश अधिकारियों को दिये।
इसके बाद डा0 पांडेय ने नीलधारा में बने 30 बेड के अस्पताल, मीडिया सेंटर, बैरागी कैंप और गौरीशंकर क्षेत्र में 50 बेड के अस्पताल का भी निरीक्षण किया। यहां उन्होंने अस्पताल के बाहर तथा मेला क्षेत्र में स्थापित अस्पतालों की सूचना से सम्बंधित साइनेजज भी लगाए जाए। ताकि आने वाले श्रद्धालुओं को अस्पतालों की जानकारी मिल सके तथा अस्पतालों की लोकेशन के लिए उन्हें इधर-उधर न भटकना पड़े।
डाॅ0 पांडेय तत्पश्चात राजकीय मेला चिकित्सालय पहुंचे, जहां उन्होंने कोविड जांच के लिए बन रही आरटीपीसीआर लैब के निर्माण कार्यों को देखा तथा काम की धीमी प्रगति पर नाराजगी प्रकट की तथा निर्देश दिये कि निर्धारित समय में अगर फर्म कार्य पूरा करके नहीं देती है तो उसका भुगतान काटा जाए। अस्पताल के अधीक्षक डा0 राजेश गुप्ता ने अस्पताल के व्यवस्थाओं की जानकारी दी। माइक्रोबायोलाजिस्ट डा0 निशांत अंजुम ने आरटीपीसीआर लैब के बारे में बताया।
निरीक्षण के दौरान डीजी हेल्थ डा0 तृप्ति बहुगुणा, अपर मेलाधिकारी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डाॅ0 रामप्रकाश, सीएमओ डाॅ0 एसके झा, जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजेंद्र सिंह पाल, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 एचडी शाक्य सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।

.........................

 

Post a Comment

Powered by Blogger.