Halloween party ideas 2015


राज्यपाल ने अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सम्मान समारोह में फ्रन्टलाइन महिला कोरोना वारियर्स को सम्मानित किया

 देहरादून :

 


 राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने सोमवार को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राजभवन में कोविड -19 महामारी के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं के सम्मान समारोह में जनपद देहरादून एवं हरिद्वार की 51 फ्रन्टलाइन महिला कोरोना वारियर्स को सम्मानित किया। 

सम्मानित होने वाली फ्रन्टलाइन महिला कोरोना वारियर्स मे पुलिस विभाग, स्वयं सहायता समूहों नगर निगम की सफाई कर्मी, सामाजिक संगठनों की प्रतिनिधि, स्वास्थ्य कर्मी सम्मिलित थी। नगर निगम देहरादून , हरिद्वार, रूड़की से 14 पर्यावरण मित्र, स्वास्थ्य विभाग से 11 स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस विभाग से 10 महिला कांस्टेबल एवं स्वयं सहायता समूहों से 16 महिलाओं को सम्मानित किया गया।

 हरिद्वार की समाजसेवी मानसी मिश्रा  को  भी  महामहिम राजयपाल  बेबी रानी मौर्य ने  कोरोना वारियर्स के रूप में सम्मानित किया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि कोरोना काल में फ्रन्टलाइन वर्कर्स में एक बड़ा हिस्सा महिलाओं का था।संकटमय काल पूरी संवेदनशीलता के साथ महत्वपूर्ण योगदान दिया है। यह फ्रन्टलाइन महिला वर्कर्स  हमारे  समाज की नींव  है । राज्यपाल ने कहा कि महिलाओं  का मनोबल बढ़ाना आवश्यक है  ताकि वे विभिन्न सामाजिक चुनौतियों का सामना साहस के साथ कर सकें। महिलाओं को अपने महिला  होने का गर्व होना  चाहिये। भारत मेंमहलाओं को शक्ति का प्रतीक माना जाता है । उन्हें  देवी के रूप मे पूजा  जाता   । मेहनतकश महिलाओं का संघर्षमय जीवन प्रेरणादायक है । वे अपने  घर-परिवार, बच्चों की जिम्मेदारियों को निभाने के  साथ ही रोजगार के लिए  परिश्रम कर रही  है ।

 राज्यपाल श्रीमती मौर्य  ने अनुरोध किया कि महिलाएं अपने बच्चों विशेषकर बेटियों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दें। उन्हें अचे संस्कार दें ।उन्हें जीवन में सफलता प्राप्त करने हेतु  निरन्तर प्रोत्साहित करें । बालिकाओं  के स्वास्थ्य पर भी ध्यान दें । परवरिश में बेटा और बेटियां  के बीच किसी भी प्रकार का भेदभाव  न करें। दें। उन्हें अचे संस्कार दें ।उन्हें जीवन में सफलता प्राप्त करने हेतु  निरन्तर प्रोत्साहित करें । बालिकाओं  के स्वास्थ्य पर भी ध्यान दें । परवरिश में बेटा और बेटियां  के बीच किसी भी प्रकार का भेदभाव  न करें।इस अवसर पर सचिव श्री राज्यपाल श्री  बृजेश कुमार सन्त, अपर सचिव श्रीजितेंद्र  कुमार सोनकर, विधि परामर्शी श्रीमती कहकशां  खान एवं महिला फ्रन्टलाइन वर्कर्स उपस्थित  रही।

Post a Comment

Powered by Blogger.