Halloween party ideas 2015

 


 उखीमठ ( रूद्रप्रयाग) : 




  इस यात्रा वर्ष श्री केदारनाथ धाम के कपाट  17  मई सोमवार  को प्रात: 5 बजे  खुलेंगे। जबकि श्री केदार बाबा की चल विग्रह डोली 14  मई  को  ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से केदारनाथ धाम को  प्रस्थान करेगी। 14 मई को फाटा, 15 मई गौरीकुंड, 16 मई शाम को चल विग्रह डोली केदारनाथ धाम पहुंचेगी।

आज   शिवरात्रि के अवसर   पंचाग गणना पश्चात विधि-विधान पूर्वक   पंचकेदार गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में  कपाट खुलने की तिथि तय की गयी । 

इस अवसर पर रावल भीमांशंकर लिंग  की उपस्थिति में पूजा वेदपाठी  स्वयंबर सेमवाल ने संपन्न की। इस अवसर पर उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम् प्रबंधन बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी.सिंह, कार्याधिकारी एनपी जमलोकी,  अनिल शर्मा श्रीनिवास पोस्ती, विनोद शुक्ला,  जगदीश भट्ट राजकुमार नौटियाल, यदुवीर पुष्पवान शिवसिंह रावत  डा. हरीश गौड़, देवानंद गैरोला, संजय शर्मा राजेंन्द्र दानू,विनीत पोस्ती सहित आचार्यगण एवं जनप्रतिनिधि श्रद्धालुजन मौजूद रहे। इस यात्रा वर्ष हेतु श्री बागेश लिंग केदारनाथ धाम के पुजारी नियुक्त हुए जबकि मदमहेश्वर में  पुजारी शिवलिंग स्वामी, विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी में पुजारी  शशिधर लिंग, श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में पुजारी श्री गंगाधर लिंग  पूजा जबकि पुजारी शिवशंकर लिंग  उखीमठ में  अतिरिक्त  में  रखा गया है।

उखीमठ में आयोजित कार्यक्रम में कोरोना बचाव मानको का पालन किया गया  तथा सोशियल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा गया। गढ़वाल आयुक्त एवं चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने चारधाम यात्रा तैयारियों के लिए निर्दैश जारी किये हैं।

 देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि  श्री बदरीनाथ धाम के कपाट इस यात्रावर्ष 18 मई को  प्रात: 4 बजकर 15 मिनट तथा श्री गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट अक्षय तृतीया  14 मई को खुल रहे है।  उखीमठ में शिवरात्रि  के पर्व पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ दर्शन को पहुंचे।

हंस फाउंडेशन तथा प्रेम रस्तोगी ग्रुप द्वारा भंडारे का आयोजन किया गया।



Post a Comment

Powered by Blogger.