Halloween party ideas 2015

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  आज सुबह 11 बजे ऑल इंडिया रेडियो पर मन की बात कार्यक्रम में देश और विदेश में लोगों के साथ अपने विचार साझा किये। यह उनका  75 वां एपिसोड है।उन्होंने लोगों को होली, नए साल के उत्सव उगादि, तमिल पुथंडु, गुड़ी पड़वा, बिहू, नावरे, पोइला बोइशाख, बैसाखी और विशु, नवरात्रि, राम नवमी, ईस्टर और अंबेडकर जयंती की शुभकामनाएं दीं।


 

  मुख्यमंत्री श्री तीरथ सिंह रावत  ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी  के मन की बात कार्यक्रम के 75 अंक पूरे होने पर कहा कि इससे देश को आगे बढ़ने का हौसला और मार्गदर्शन मिला है। कोरोना काल में भी प्रधानमन्त्री जी के बेहतर प्रबंधन से देश में स्थितियां नियंत्रित हुई हैं। मन की बात सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास की बात हो या फिर स्वच्छता या विरासत को संजोने की, हर दिशा में उनके प्रेरणादायी संदेशों के सकारात्मक परिणाम आए हैं। 



मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के हालातों में प्रधानमंत्री जी के मन की बात कार्यक्रम ने देश को हौसला दिया है। और खराब स्थितियों में सभी को एकजुट किया।  कोरोना वॉरियर्स के प्रति जो सम्मान का भाव पीएम मोदी ने मन की बात में रखा है उसके लिए पूरा देश कृतज्ञ है। उन्होंने खेलों में महिला खिलाड़ियों की उपलब्धियां गिनाकर प्रोत्साहित किया।उन्होंने मिताली राज का उदाहरण दिया, जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दस हजार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनीं। उन्होंने उपलब्धि पर बधाई देते हुए कहा, मिताली राज ने दो दशक से अधिक लंबे करियर के दौरान लाखों लोगों को प्रेरित किया है।

 श्री मोदी ने कहा, उनकी दृढ़ता और सफलता की कहानी न केवल महिला क्रिकेटरों के लिए बल्कि पुरुष क्रिकेटरों के लिए भी एक प्रेरणा है।प्रधान मंत्री ने नई दिल्ली में आईएसएसएफ विश्व कप की शूटिंग में भारत के उत्कृष्ट प्रदर्शन की सराहना की जहां इसने स्वर्ण पदक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल किया।

उन्होंने कहा, हमारी स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव का तात्पर्य है कि हम नए संकल्प करते हैं और उन संकल्पों को महसूस करने के लिए, हम पूरी लगन के साथ स्वतंत्रता का दृढ़ता से पालन करते हैं। इसका मतलब समाज के कल्याण के लिए, देश की भलाई के लिए और उज्ज्वल भविष्य के लिए होना चाहिए। उन्होंने तीज त्योहारों और लोक भाषाओं के संवर्द्धन की भी जरूरत पर बल दिया।श्री मोदी ने कहा, पारंपरिक खेती के साथ-साथ नए विकल्प, नए नवाचारों को अपनाना कृषि क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा करने और किसानों की आय बढ़ाने के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कामना की कि देश के अधिक से अधिक किसान मधुमक्खी पालन के साथ-साथ उनकी खेती से जुड़ें।

उन्होंने कहा, पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए, भारत में 71 प्रकाश घरों की पहचान की गई है। ये लाइट हाउस अपनी क्षमता के आधार पर म्यूजियम, एम्फी-थिएटर, ओपन एयर थिएटर, कैफेटेरिया, बच्चों के पार्क, इको फ्रेंडली कॉटेज और लैंडस्केपिंग से लैस होंगे। 

प्रधानमंत्री ने ओडिशा के केंद्रपाड़ा से बिजय कुमार काबिजी के बारे में उल्लेख किया, जिन्होंने 12 वर्षों में समुद्र की ओर गाँव के बाहरी इलाके में 25 एकड़ का मैंग्रोव वन उठाया है। 

प्रधानमंत्री ने केरल के कोच्चि में सेंट टेरेसा कॉलेज के छात्रों के उदाहरण का हवाला दिया जो बेहद रचनात्मक तरीके से पुन: प्रयोज्य खिलौने बना रहे हैं। वे पुराने कपड़े, लकड़ी के टुकड़े, बैग और बक्से को खिलौने बनाने में परिवर्तित कर रहे हैं।

विश्व गौरैया दिवस के बारे में बात करते हुए, श्री मोदी ने कहा, वाराणसी में, इंद्रपाल सिंह बत्रा ने एक महान प्रयास किया है गोरैया के लिए अपने घर को  उनका घर बना लिया है। 

उन्होंने आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में प्रोफेसर श्रीनिवास पादकंदला के बारे में भी बात की जिन्होंने ऑटोमोबाइल मेटल स्क्रैप से मूर्तियां बनाई हैं। 

 श्री मोदी ने मारीमुथु योगनाथन के बारे में उल्लेख कियायोगनाथन अपने बस के यात्रियों को टिकट जारी करते समय एक नि: शुल्क पौधा भी देते हैं और असंख्य पेड़ लगा चुके हैं।

 उन्होंने  ईस्टर पर्व को जीवन के उत्साह और उम्मीदों के पुनर्जीवन का पर्व बताया। बसंत से लेकर होली के रंगों और प्रकृति के समन्वय के बारे में बताया। और विरासत को संजोने की बात कही है। यह हमारे पूरे समाज के लिए प्रेरणादायी है। कहा कि बाबा साहेब की जयंती को यादगार बनाया जायेगा

 श्री मोदी ने सभी श्रोताओं को मन की बात सफल बनाने, इसे समृद्ध बनाने और जुड़े रहने के लिए धन्यवाद दिया। 

Post a Comment

Powered by Blogger.