Halloween party ideas 2015

 

  अधिकारियों को निर्देश , हेल्थ वर्कर को लगाए जाने वाले इस सप्ताह तक लगा लिए जाएं; मुख्य सचिव 





आज उत्तराखंड में 105 स्थानों पर कोविड-19 टीकाकरण किया गया है । कुल मिलाकर आज 5925 लोगों का  वैक्सीनेशन किया गया ।   

16 जनवरी, 2021 से अब तक 610 जगहों पर टीकाकरण हुआ है जहां पर 43230 लोगों का टीकाकरण किया गया है। 

अब तक अल्मोड़ा में 2426  लोगों को, बागेश्वर में 1330 को, चमोली में 1834 को, चंपावत में 1709  को, देहरादून में 10431 को, हरिद्वार में 5756 को, नैनीताल में 5279 को ,पौड़ी गढ़वाल में 2719 को, पिथौरागढ़ में 1194 को, रुद्रप्रयाग में 1386 को, टिहरी गढ़वाल में 2506 को, उधम सिंह नगर में 4771 को और उत्तरकाशी में 1879 लोगों को टीकाकरण किया जा चुका है।

उत्तराखंड में आज कोरोना पॉजिटिव के 47 मामले आए हैं। जिसे मिलाकर उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के कुल मामले अब 96227 हो गए हैं। जिसमें सक्रिय मामलो की संख्या 1043 है, आज  80 लोग ठीक हो चुके है, रिकवर मामलों की संख्या 92185 है। अभी तक 1651 लोगों मृत्यु हो चुकी है।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के ठीक होने की दर  95.80 % हो गयी है। उत्तराखंड में कोई कन्टेनमेंट जोन नहीं है।

आज उत्तराखंड में 03 कोरोना संक्रमितों की मृत्यु हुई है। जिसमें हिमालयन अस्पताल देहरादून से 01, श्री महंत इंद्रेश अस्पताल से01 और वेलमेड अस्पताल देहरादून से 01  की मृत्यु हुई है।


देहरादून :



मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश की अध्यक्षता में मंगलवार को कोविड-19 वैक्सीनेशन के सम्बन्ध में राज्य संचालन समिति की बैठक सम्पन्न हुयी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि हेल्थ वर्कर को लगाए जाने वाले इस सप्ताह तक लगा लिए जाएं। 

उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह से फ्रंटलाईन वर्कर्स का टीकाकरण शुरू किया जाना है, इससे पूर्व हेल्थ वर्कर का टीकाकरण पूर्ण कर लिया जाए। जागरूकता अभियानों के माध्यम से वैक्सीनेशन के प्रति अधिक से अधिक जागरूकता फैलायी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीनेशन को सफल बनाने हेतु अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए माईक्रो प्लानिंग की जाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि कुम्भ-2021 हेतु एसओपी (स्टैण्डर्ड ऑपरेशन प्रोसीजर) जारी हो गयी है। इसके अनुसार कुम्भ में लगे प्रत्येक अधिकारी व कर्मचारी का वैक्सीनेशन किया जाना है। जिसके लिए अतिरिक्त वैक्सीन की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने कहा कि इसके लिए हरिद्वार जनपद को विशेष व्यवस्थाएं करनी होंगी। वैक्सीनेशन का कार्य सफलतापूर्वक करने हेतु बी.डी.ओ. एवं ए.बी.डी.ओ को लगाया जाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि फ्रंटलाईन वर्कर्स के वैक्सीनेशन हेतु उन्हीं के परिसरों पर व्यवस्थाएं की जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि यदि सम्भव हो तो कलेक्ट्रेट परिसर, सीडीओ ऑफिस, तहसील, ब्लॉक, पुलिस लाईन और एसडीएम ऑफिस में ही वैक्सीनेशन की व्यवस्थाएं की जाएं। मुख्य सचिव ने कहा कि टीकाकरण को किए हुए 02 सप्ताह से उपर हो गए हैं, और टीकाकरण के बाद कोई प्रतिकूल बड़ी घटना सामने नहीं आयी है। जिससे यह साबित होता है कि वैक्सीन सुरक्षित है। इसका प्रचार प्रसार कर लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक किया जा सकता है। वैक्सीनेशन को सफल बनाने हेतु न्यूज पेपर, इलैक्ट्रॉनिक मीडिया, सोशल मीडिया आदि के माध्यम से प्रचार अभियान चलाया जाए।

इस अवसर पर सचिव श्री अमित नेगी, डॉ. पंकज पाण्डेय एवं श्री हरिचन्द्र सेमवाल एवं अपर सचिव श्री युगल किशोर पंत सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


Post a comment

Powered by Blogger.