Halloween party ideas 2015

 ऋषिकेश;

 उत्तराखण्ड राज्य बने आज भले ही बीस वर्षों हो चुके है । लेकिन आज भी  ग्रामीण क्षेत्र  विकास से कोसों दूर है। सबसे ज्यादा बुरा हाल इस राज्य में स्थित नदियों के किनारों बसे हुए गांवो का है। ऐसा ही एक क्षेत्र है ऋषिकेश विधानसभा के ग्राम पंचायत साहबनगर का जहां  राजाजी टाइगर रिजर्व से सटे इस गांव मे  पार्क क्षेत्र से बह रही सांग व सुसवा नदी  संकट का सबब बन चुकी है।




इस क्षेत्र में पिछले कुछ वर्षो के दौरान इन नदियों ने जम कर कहर बरपाया है। वहीं बरसात के दौरान आने वाली बाढ़ के चलते यहां के ग्रामीणों की कई बीघा ज़मीन नदी में बह चुकी है। इसी के साथ ही नदी द्वारा लगातार हो रहे कटाव से नदी का रुख आबादी की ओर बढ़ रहा है। वहीं साहबनगर के  ग्रामीणो ने सरकारी सिस्टम को आईना दिखाया ।

 जहां क्षेत्र मे ग्रामीणो ने मरीन विकास समिति बनाकर  रविवार को श्रमदान कर निर्माण कार्य स्थल को चिन्हित किया । जिसमें ग्रामीणो की कृषि भूमि से 50 फीट सौंग नदी की तरफ  50 फीट चौडाई का तटबन्ध व मरीन ड्राइव के लिये विभिन्न स्थानों पर निशान लगाये । 

मरीन ग्राम विकास समिति के अध्यक्ष मोहन सिंह असवाल ने बताया की मैरीन ड्राईव बनने से गांव के किसानों की  जमीन सुरक्षित होगी । वहीं  मैरीन ड्रार्ईव बनने क्षेत्र मे पर्यटन को बढावा मिलेगा । जिससे क्षेत्र के ग्रामीण आत्मनिर्भर बनेगे । 

इस मौके मरीन विकास समिति साहबनगर  के सचिव राकेश रावत ,उपाध्यक्ष पूरण चन्द्र रमोला ,पंचायत सदस्य गीता रावत,संगीत खत्री ,ज्ञान सिंह रौथाण ,चैन सिंह रावत ,आनंद भण्डारी, विमला देवी ,अंशुमान,पुष्पा मल्ल ,विरेन्द्र थापा मौजूद रहे ।

Post a Comment

Powered by Blogger.