Halloween party ideas 2015

 हरिद्वार:



कुंभ को स्वस्थ, सुरक्षित कराने के उद्देश्य की सफलता के लिए आज आर्य नगर स्थित एक होटल में कुंभ मेला स्वास्थ्य विभाग की ओर से खाद्य सुरक्षा प्रशिक्षण व प्रमाणन पर 'रूको'  गोष्ठी व प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। इसका उद्घाटन करते हुए मुख्य अतिथि कुंभ मेलाधिकारी श्री दीपक रावत ने कहा अध्यात्म और उत्सव के रंग, स्वच्छ, एवं सुरक्षित खाद्य के संग के इस नारे को साकार करने के लिए हम सभी को मिलकर अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी। इसमें खाद्य सुरक्षा विभाग के साथ ही व्यापारियो की महत्वपूर्ण भूमिका है जिसे पूरी ईमानदारी और तन्मयता से निभाने की जरूरत है।                                                                    इसके पहले उन्होंने रूको कार्यक्रम का उद्घाटन फ्लैग आफ कर व दीप प्रज्वलित कर किया। उनका व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारियों और पदाधिकारियों ने पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। मेलाधिकारी ने व्यापारियों को प्रमाणपत्र दिया। कार्यक्रम में वीडियो प्रजेंटेशन के माध्यम से बायो फ्यूल के बारे में जानकारी दी गई। कुंभ मेलाधिकारी ने 'रूको' पुस्तिका का विमोचन भी किया।  कुंभ मेलाधिकारी श्री दीपक रावत ने अपने संबोधन में आगे कहा कि वह स्वास्थ्य की परिभाषा को लेकर बेहद सतर्क व जिज्ञासु हैं। सही आसन, सही आराम और सही आहार बेहतर स्वास्थ्य का प्रमुख आधार है। कहा स्वस्थ और सुरक्षित खाद्य के लिए कुकिंग आयल का सही होना बहुत जरूरी है। कहा रियूज्ड तेल का सुरक्षित प्रयोग औद्योगिक इकाइयों में हो सकता है। इसका एक एप के माध्यम से मानीटरिंग इस बार कुंभ में होगा। मेलाधिकारी श्री दीपक रावत ने  कहा मेले के दौरान आने वाले श्रद्धालुओं की सेहत का ख्याल रखने में व्यापारियों को सचेत रहना होगा। खाद्य सुरक्षा विभाग को भी अपनी जिम्मेदारी पूरी पारदर्शिता के साथ निभानी होगी। पत्रकारों के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कुंभ मेले में मिलावटी खाद्य पदार्थों की बिक्री व प्रयोग कर अंकुश के लिए जनता को भी जागरूकता के साथ ऐसे तत्वों की जानकारी सामने लानी चाहिए, जिससे खाद्य सुरक्षा विभाग ऐसे लोगों के खिलाफ समय से कारवाई कर सके।                                                    विशिष्ट अतिथि कुंभ मेलाधिकारी स्वास्थ्य डा अर्जुन सिंह सेंगर ने रूको भारत सरकार की ओर से संचालित प्रेरणादायक कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं, तीर्थ यात्रियों के सुरक्षित स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित कुकिंग आयल का प्रयोग करें।

इस दौरान श्री आर एस रावत अभिहीत अधिकारी कुंभ, श्री आर एस पाल अभिहित अधिकारी हरिद्वार, श्री दिलीप जैन खाद्य सुरक्षा अधिकारी कुंभ, श्री मनोज सेमवाल खाद्य सुरक्षा अधिकारी कुंभ, आशीष भार्गव आडिटर खाद्य सुरक्षा आदि उपस्थित रहे।

इस्तेमाल किए गए कुकिंग तेल से बनेगा हरित ईंधन या बायो डीजल


कुंभ मेला में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत कुकिंग तेल से हरित ईंधन बायो डीजल का उत्पादन किया जाएगा। इस सम्बंध में विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के लिये नगर विकास मंत्री मदन कौशिक ने निर्देश दिया है।

सुरक्षित सेहत का ध्यान रखते हुए भारत सरकार की पहल पर खाद्य सुरक्षा विभाग की निगरानी में उत्तराखंड में भी अब हरित ईंधन की शुरूआत हरिद्वार से हो चुकी है। इससे जहां लोगों को एक ही कुकिंग आयल के बार बार प्रयोग से सेहत को नुकसान भी नहीं पहुंचेगा और पर्यावरण भी सुरक्षित रहेगा।                                                       

 बायो फ्यूल या बायो डीजल तैयार करने की प्रक्रिया के सम्बन्ध में, अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा कुंभ आरएस रावत ने बताया कि बायो डीजल या हरित ईंधन नये युग की स्वास्थ्य की दिशा में क्रांति है। उन्होंने कहा कि एक ही कुकिंग आयल को तीन बार से अधिक प्रयोग करना स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक है। इससे बचने के लिए भारत सरकार की पहल पर कुंभ में भी विभाग की निगरानी में हरिद्वार में इसकी शुरुआत हो चुकी है। सरकार की ओर से अधिकृत एक कंपनी जिसका प्लांट भिवाड़ी हरियाणा में है, वह हरिद्वार के होटल, रेस्टोरेंट कारोबारियों से ऐसे रियूज्ड कुकिंग आयल को एकत्रित करने का काम कर रही है। इसके लिए आज ऐसे कारोबारियों को कैन भी दिया गया है। इसमें निष्प्रयोज्य कुकिंग आयल एकत्रित कर कंपनी 25 रूपये प्रति किलो की दर से खरीद करेगी। इसका रिसाइक्लिंग कर औद्योगिक प्रयोजन में इस्तेमाल किया जाएगा। बताया कि औसतन 10 लीटर ऐसे कुकिंग आयल से सात से आठ लीटर बायो फ्यूल तैयार हो सकता है। बायो फ्यूल से पर्यावरण के संरक्षण के साथ ही लोग सेहतमन्द भी होंगे। कुंभ के दृष्टिगत इस कार्य में तेजी लाई जा रही है।



कुंभ मेला 2021 में स्वास्थ्य सुविधा को देखते हुए मेलाधिष्ठान द्वारा 150 बेड का जनरल हॉस्पिटल का निर्माण किया जा रहा है। 

हॉस्पिटल तक आसान पहुँच  की दृष्टि से इसे हाई वे से लगे,पावन धाम के समीप बनाया जा रहा है।

इस हॉस्पिटल में बर्न यूनिट,आई सी यू, ई एम आर (इमरजेंसी मेडिकल रूम), ओ पी डी की सुविधा है।

इसमे अग्नि सुरक्षा के लिये फायर फाईटिंग का प्रावधान है । इस हॉस्पिटल में  एफ आर पी (फाइबर रिनफोर्स प्लास्टिक )टायलेट लगेगा जो सोलर लाइट से युक्त होगा।


Post a comment

Powered by Blogger.