Halloween party ideas 2015





टिहरी की कोटी कॉलोनी में 26 जनवरी को अचानक लगी आग में दो घरों का सामान पूरी तरह से जलकर खाक हो गया था। इस आगजनी में कोटी कॉलोनी निवासी सुमित्रा देवी और गणेश डोभाल के घर में रखे कपड़े,बर्तन राशन और  जरूरत का अन्य  सामान  जलकर राख हो गया था। 

उत्तराखंड में पड़ रही कड़कड़ाती ठंड के बीच इन परिवारों पर आए इस मुसिबत के पहाड़ ने इन परिवारों को सड़क पर लाकर खड़ा कर दिया था। ऐसे संकट के समय में इन परिवारों की मदद के लिए कई लोग सामने आ रहे है। ताकि इन लोगों को जल्द से जल्द इस संकट से उभारकर कर इन्हें  एक बार फिर बसाया जा सकें।


इस संकट के समय से हमेशा की तरह हर जरूरतमंद एवं वंचित लोगों के साथ खड़े होकर उनकी मदद के लिए प्रतिबद्ध द हंस फाउंडेशन ने टिहरी की कोटी कॉलॉनी में लगी आग में अपना सब कुछ खो चुके परिवारों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है।ताकि इन लोगों के घरों को एक बार फिर से आबाद किया जा सके। इसके लिए फाउंडेशन ने इन परिवारों की मदद के लिए त्वरित निर्णय लेते हुए  स्थानीय दुकानदारों के माध्यम से जरूरी सामान बर्तन कपड़े इत्यादि उपलब्ध कराया है। इसी के साथ इन परिवारों को  30-30 हजार रुपए की राशि भी प्रदान की गई है। 


माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के आशीष प्रदान की गई राशि प्राप्त होने के बाद आग में अपना सब कुछ खो चुके सुमित्रा  देवी और गणेश डोभाल ने हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस संकट के समय में हमें प्रदान की गई यह मदद हमारे लिए आशियाना बनाने के लिए बहुत बड़ी मदद है। हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार प्रकट करते हैं कि प्रत्येक जरूरतमंद व्यक्ति के साथ खड़े रहने वाले समाज सेवी आज हमारे साथ भी खड़े होकर आशीष दे रहे है। जिन्होंने इस संकट के समय में हमें तुंरत सहयोग प्रदान किया।

इस आगजनी में अपना सब कुछ खो चुके गणेश डोभाल ने भी हंस फाउंडेशन का आभार व्यक्त करते हुए कहा की शॉर्ट सर्किट से लगी इस आग में हमारे बिस्तर,बर्तन और कपड़े सब जल गए। हमारे पास ठंड से बचने के लिए कुछ नहीं था। ऐसे समय में माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी ने हमें आशीर्वाद प्रदान किया है। यह हमारे लिए बहुत बड़ी राहत है। इसके लिए हम पूज्य माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी कोटि-कोटि आभार व्यक्त करते है।


आपको बता दें कि 26 जनवरी को  टिहरी की टीएचडीसी कॉलोनी में एक भवन में आग लगने से दो परिवार बुरी तरह से प्रभावित हुए थे। इस  घटना में कोई जनहानि नहीं हुई थी, लेकिन प्रभावितों का पूरा घरेलू सामान जलकर राख हो गया था। इस की जानकारी जब हंस फाउंडेशन के संस्थापक माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज को लगी तो उन्होंने तुरंत इन प्रभावित परिवारों की मदद के लिए हाथ बढ़ाए। जिसके बाद इन परिवारों को तत्काल स्थानीय दुकानदारों के जरिए रोज़मर्रा का जरूरी सामान प्रदान किया गया। साथ ही 30-30 हजार रूपये की आर्थीक मदद प्रदान की गई है।

Post a comment

Powered by Blogger.