Halloween party ideas 2015

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि ब्रांड इंडिया का आधार  गुणवत्ता और विश्वसनीयता होना चाहिए। आज राष्ट्रीय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नेशनल मेट्रोलॉजी कॉन्क्लेव 2021 के उद्घाटन भाषण को देते हुए, श्री मोदी ने भारतीय वैज्ञानिकों और तकनीशियनों द्वारा किये गए , कार्य की सराहना करते हुए कहा कि देश दुनिया में सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की दहलीज पर है और पूरा देश हमारे सभी वैज्ञानिकों और तकनीशियनों का ऋणी है।

  भारतीय वैज्ञानिकों की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए, प्रधान मंत्री ने ड्रग रेगुलेटर द्वारा भारत COVID-19 टीके में किए गए दो के अनुमोदन की सराहना की। उन्होंने कहा, उद्योग और संस्थानों के बीच सहयोग को मजबूत करने की दिशा में सरकार के प्रोत्साहन से देश में कई विश्व प्रसिद्ध अनुसंधान केंद्र स्थापित हुए हैं। केंद्र के निरंतर प्रयासों के कारण, आज देश ग्लोबल इनोवेशन रैंकिंग में शीर्ष 50 देशों में शामिल है।


मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कोविड-19 की स्वदेशी वैक्सीन के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और वैज्ञानिकों का अभिनंदन करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के  मार्गदर्शन में कोरोना महामारी से लड़ने के लिए लंबे समय से कोविड-19 स्वदेशी वैक्सीन का इंतजार अब खत्म हो चुका है। कोरोना वैक्सीन विशेषज्ञ समिति की संस्तुति पर ड्रग कंट्रोलर ऑफ इंडिया ने भारत बायोटेक की ‘कोवैक्सीन’ और सीरम इंस्टीट्यूट की ’कोविशील्ड’ को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी दे दी है। संपूर्ण देशवासियों के लिए गर्व की बात यह है कि ये दोनों ही वैक्सीन भारत में ही बनी हैं।

 पिछले 24 घंटों के दौरान 19 हजार से अधिककोरोना संक्रमण के मामले सामने आये है जबकि देश की COVID -19 रिकवरी दर 96.19 प्रतिशत तक पहुंच गई है।  स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, रिकवरी की कुल संख्या 99 लाख 46 हजार से अधिक हो गई है वर्तमान में, देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या लगभग दो लाख 43 हजार है।  पिछले 24 घंटों के दौरान, देश में कुल एक करोड़ तीन लाख से अधिक सकारात्मक मामलों में 16 हजार 505 नए मामले सामने आए। पिछले 24 घंटों के दौरान  214 मौतें भी हुईं। वर्तमान में भारत की केस मृत्यु दर 1.45 प्रतिशत है, जो वैश्विक स्तर पर सबसे कम है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान सात लाख 35 हजार से अधिक परीक्षण किए गए। अब तक जांचे गए नमूनों की कुल संख्या 17 करोड़ 56 लाख तक पहुंच गई है।

Post a comment

Powered by Blogger.