Halloween party ideas 2015


कृषि क्षेत्र को मजबूत करने के लिए तेजी से काम हुआ: पीएम मोदी

पीएम-वाणी योजना के तहत वाई फाई हॉटस्पॉट का नेटवर्क तैयार होगा: पीएम मोदी

किसानों की आय बढ़ाने के लिए ये सभी पहल किए, किसान अपनी उपज को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी बेच सकते हैं: पीएम मोदी


नई दिल्ली:


 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से फिक्की की 93वीं वार्षिक आम बैठक का उद्घाटन किया। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने उद्योग संगठन फिक्की की आम बैठक को संबोधित किया। अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, कोरोना महामारी के बाद जितनी तेजी से हालात बिगड़े, उतनी ही तेजी के साथ सुधर भी रहे हैं। यह बैठक 11, 12 और 14 दिसंबर को आयोजित हो रही है। इसका थीम ‘प्रेरित भारत’ है। इस आयोजन में कई मंत्रियों, नौकरशाहों, उद्योग के मालिकों, राजनयिकों, अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों और अन्य प्रमुख उद्योगपतियों ने भाग लिया है।

 यह सम्मेलन विभिन्न हितधारकों को अर्थव्यवस्था पर कोरोना के प्रभाव, सरकार द्वारा किए जा रहे सुधारों और भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त करेगा। पीएम मोदी ने कहा, देश के कृषि क्षेत्र को मजबूत करने के लिए बीते वर्षों में तेजी से काम किए गए है। उससे भारत का एग्रीकल्चर सेक्टर पहले से कहीं अधिक वाइब्रेंट हुआ है। उन्होंने कहा, आज भारत के किसानों के पास अपनी फसल मंडियों के साथ ही बाहर भी बेचने का विकल्प है। आज भारत मे मंडियों का आधुनिकीकरण तो हो ही रहा है, किसानों को डिजिटल प्लेटफार्म पर फसल बेचने और खरीदने का भी विकल्प दिया है। पीएम मोदी ने कहा, पीएम-वाणी योजना के तहत देशभर में सार्वजनिक वाई फाई हॉटस्पॉट का नेटवर्क तैयार किया जाएगा। इससे गांव-गांव में कनेक्टिविटी का व्यापक विस्तार होगा। मेरा आपसे आग्रह है कि रूरल और सेमी रूरल क्षेत्रों में बेहतर कनेक्टिविटी की इन प्रयासों में भागीदार बनें।

 कृषि सुधारों पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, आज, भारत के किसान अपनी उपज को मंडियों और साथ ही बाहर भी बेच सकते हैं। किसान अपनी उपज को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी बेच सकते हैं। हम किसानों की आय बढ़ाने और उन्हें और अधिक समृद्ध बनाने के लिए ये सभी पहल कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, इन रिफॉर्म्स के बाद किसानों को नए बाजार मिलेंगे, नए विकल्प मिलेंगे, टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, देश का कोल्ड स्टोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर आधुनिक होगा।

 इन सबसे कृषि क्षेत्र में ज्यादा निवेश होगा। इन सबका सबसे ज्यादा फायदा मेरे देश के किसान को होने वाला है। पीएम मोदी ने कहा, कृषि सेक्टर और उससे जुड़े अन्य सेक्टर जैसे कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर हो, फूड प्रोसेसिंग हो, स्टोरेज हो, कोल्ड चैन हो इनके बीच हमने दीवारें देखी हैं। अब है सभी दीवारें हटाई जा रही हैं, सभी अड़चनें हटाई जा रही हैं। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, पिछले 6 वर्षों में भारत ने भी ऐसी ही सरकार देखी है, जो सिर्फ और सिर्फ 130 करोड़ देशवासियों के सपनों को समर्पित है। 

जो हर स्तर पर देशवासियों को आगे ले जाने के लिए काम कर रही है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, पिछले 6 वर्षों में भारत ने भी ऐसी ही सरकार देखी है, जो सिर्फ और सिर्फ 130 करोड़ देशवासियों के सपनों को समर्पित है। जो हर स्तर पर देशवासियों को आगे ले जाने के लिए काम कर रही है।

 पीएम मोदी ने कहा, एक जीवंत अर्थव्यवस्था में, जब कोई क्षेत्र बढ़ता है, तो इसका सीधा प्रभाव अन्य क्षेत्रों पर भी पड़ता है। 

हम जो सुधार कर रहे हैं, वे ऐसे सभी अनावश्यक ढांचे को हटा रहे हैं। कृषि क्षेत्र एक ऐसा उदाहरण है। उन्होंने कहा, हमारी अर्थव्यवस्था को क्षेत्रों के बीच बाधाओं की आवश्यकता नहीं है, लेकिन एक दूसरे का समर्थन करने के लिए एक पुल की जरूरत है। पिछले कुछ वर्षों में, हमने ऐसी सभी बाधाओं को तोड़ने के लिए सुधार किए हैं।

Post a comment

Powered by Blogger.