Halloween party ideas 2015

  •  पौड़ी के पोखड़ा ब्लॉक के सिलेथ गांव के लिए ,हंस फाउंडेशन की बड़ी पहल,पोखड़ा ब्लॉक के सिलेथ गांव के कोरोना संक्रमितों के लिए पहुंचाई मदद
  • हंस फाउंडेशन एक बार फिर बना पहाड़ के गांव के लिए देवदूत, कोवीड-19 संक्रमण की चपेट में आए पोखड़ा के सिलेथ गांव तक पहुंचाई खाद्य सामग्री

 


पौड़ी गढ़वाल जिले के पोखड़ा विकास खंड के सिलेथ गांव के लगभग 285 ग्रामीण पिछले एक सप्ताह से मुश्किल दौर से गुजर रहे है। इस गांव के 89 ग्रामीणों के एक साथ कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है। जिला प्रशासन सिलेथ गांव में एक साथ इतनी बड़ी संख्या में ग्रामीणों के कोरोना पॉजिटिव होने परेशान है।

यह संक्रमण दूसरे गांव और लोगों तक नहीं पहुंचे। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने सिलेथ गांव एवं इसके आसपास के बजारों को सील कर दिया है। जिसके चलते गांव वालों के सामने कई तरह के संकट पैदा हो गए है। लोगों रोजमर्रा के जरूरी सामान के लिए भी अपने घरों से बहार नहीं निकल पा रहे है। 

इस संकट से समय में एक बार फिर से हंस फाउंडेशन पौड़ी गढ़वाल के पोखड़ा विकास खंड के सिलेथ गांव के ग्रामीणों के लिए देवदूत बनकर खड़ा हुआ है। माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के आशीष से कोवीड-19 संक्रमण के कारण सील हुए सिलेथ गांव के ग्रामीणों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हंस फाउंडेशन ने इन ग्रामीणों के लिए मास्क,हैंड ग्लव्स,फेस शील्ड,सैनिटाइजर,स्वच्छता किट एवं पी पी ई कीट एवं खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाई है। ताकि इन ग्रामीणों के किस तरह से कोई दिक्कत न हो।

हंस फाउंडेशन के तत्ववाधान में पोखड़ा विकास खंड के सिलेथ गांव पहुंची खाद्य सामग्री को राजस्व नरिक्षक रामकिशोर ध्यानी की उपस्थिति में पोखड़ा महोत्सव समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व प्रमुख सुरेंद्र सिंह रावत,पूर्व प्रधान कलम सिं सजवाण,सदस्य अर्जुन सिंह,मनोहर पंत एवं मनोज नौटियाल ने सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए ग्रामीणों को सौंपा गया।

 हंस फाउडेशन के माध्यम से सिलेथ गांव के ग्रामीणों को प्रदान की गई खाद्य सामाग्री के लिए ग्रामव वासियों को माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का आभार प्रकट किया है। 

आपको बता दें कि पौड़ी गढ़वाल जिले के पोखड़ा विकास खंड के सिलेथ गांव में पिछले दिनों एक साथ कोरोना के लगभग 89 संक्रमित मिले थे। जिसके बाद इस गांव और इसके आसपास के गांव के साथ बाजारों को सील कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम इन सभी ग्रामीणों पर नजर बनाए हुए है। इसी के साथ बाकि ग्रामीणों की भी स्वास्थ्य विभाग द्वार जांच की जा रही हैं,और उनकी दिनचर्या पर नजर रखी जा रही है।


Post a Comment

Powered by Blogger.