Halloween party ideas 2015




मेघालय-असम- बांग्लादेश बॉर्डर पर भारतीय सेना की खुफिया एजेंसियों द्वारा चलाए गए एक तेज और सुनियोजित ऑपरेशन में, उल्फा (आई) के नेता द्रष्टि राजखोवा  ने   हथियारों की एक बड़ी मात्रा  एवं अपने चार साथियों के साथ  भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण किया  .  उनके साथ साथ उनके चार मित्र  कॉर्पोरल वेदांत, यासीनएम्स, रोपज्योतिसॉम और मिथुनसोम भी आत्मसमर्पण  में शामिल थे।
ऑपरेशन पुष्ट इनपुट्स पर आधारित था, जो पिछले नौ महीनों की अथक मेहनत का परिणाम था। 

असम में  द्रष्टि राजखोवा लंबे समय से उल्फा विद्रोहियों की निचली सूची में वांछित अपनी गतिविधियों के लिए जिम्मेदार थे । उनका आत्मसमर्पण भूमिगत संगठन के लिए एक बड़ा झटका है और इस क्षेत्र में शांति के लिए एक नई सुबह की शुरुआत करता है। 

इस ऑपरेशन के द्वारा भारतीय सेना ने फिर से पुष्टि की, कि हर समय यह क्षेत्र में शांति और सामान्य स्थिति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है।

Post a comment

Powered by Blogger.