Halloween party ideas 2015

 चारधाम यात्रा वर्ष-2020

उखीमठ:



 द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर  जी की डोली आज  अपने शीतकालीन गद्दी स्थल ऊखीमठ में विराजमान हो गयी है .

इस अवसर पर श्री ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में भक्तों ने सादगी पूर्ण ढंग से शोसियल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भगवान की डोली के दर्शन किए तथा आशीर्वाद प्राप्त किया,  अपने आराध्य देव को अपने गद्दी स्थल में देखकर लोग भाव विभोर हो उठे।  भगवान श्री मद्मेश्वर  जी को बूढ़ा मद्महेश्वर जी की डोली में बिठाकर मंदिर की परिक्रमा की गयी। पुजारी श्री गंगाधर लिंग एवं डोली यात्रा प्रभारी श्री मनीष तिवारी तथा देवस्थानम के अन्य कर्मचारी पुजारीगण डोली के साथ  पहुंचे।

  उत्तराखंड चार धाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी  बी.डी. सिंह , पूज्यपाद रावल जी के प्रतिनिधि श्री केदार लिंग स्वामी,  कार्याधिकारी एन.पी.जमलोकी   मंगोलचारी तक परम्परानुसार भगवान जी के स्वागतार्थ  पहुंचे।  साथ ही आर्मी बैंड के साथ  ही  देवस्थानम बोर्ड के कर्मचारियों  विदेश शैव् आलोक बजवाल, संदीप बजवाल, प्रदीप, सुदीप, सूरज नेगी, दिलबर नेगी, भोला कुंवर, ललित त्रिवेदी, पारेश्वर, पुष्कर बर्त्वाल, प्रेम सिंह, देवी प्रसाद तिवारी, राजेन्द्र रावत  भी मंगोलचौंरी   स्वागत को पहुंचे।


 इस अवसर देवस्थानम बोर्ड के  सहायक अभियंता गिरीश देवली  वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी  राजकुमार नौटियाल, कोषाध्यक्ष आर.सी. तिवारी, प्रशासनिक अधिकारी युद्धवीर पुष्पवान, फार्मेसी प्रभारी डा. हर्षवर्धन बैंजवाल, पुजारी शिव शंकर लिंग,पुजारी, वागेश लिंग शिवलिंग श्री राजशेखर लिंग, विश्वमोहन जमलोकी यशोधर मैठाणी,  देवानंद गैरोला,मनोज शुक्ला, पुष्कर रावत,नवीन मैठाणी, मृत्युंजय हीरेमठ, पुष्कर रावत, सरिता बुटोला, दिगम्बर नेगी, अनूप पुष्पवान सहित क्षेत्रीय जनता एवं श्रद्धालुजन मौजूद रहे।  

देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा.हरीश गौड़ ने बताया कि श्री मद्महेश्वर जी की डोली के श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में स्थापित होते ही शीतकालीन बाबा की शीतकालीन पूजाएं  भी शुरू हो रही है।

Post a comment

Powered by Blogger.