Halloween party ideas 2015

 देश मना रहा है संविधान दिवस , मुख्यमंत्री ने दी शुभकामनाएं



 मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने संविधान दिवस के अवसर पर प्रदेश की जनता को बधाई और शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने संविधान दिवस की पर जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि विश्व में भारत की विशिष्ट पहचान बनाने में भारतीय संविधान की विशेष भूमिका है।

 भारत आज विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। संविधान में प्रत्येक नागरिक के लिए मौलिक अधिकारों के साथ ही मूल कर्त्तव्यों का भी उल्लेख किया गया है। हमें अपने मौलिक अधिकारों की रक्षा के साथ ही कर्तव्यों का पालन भी तत्परता से करना चाहिए। संविधान के प्रति निष्ठा और सम्मान रखते हुए देश में शांति, सद्भाव और सामाजिक समरसता बनाए रखना हम सभी का दायित्व है।

 

संविधान सभा द्वारा भारतीय संविधान को अपनाने के लिए देश भर में आज संविधान दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन को राष्ट्रीय कानून दिवस के रूप में भी जाना जाता है और भारत में संविधान को अपनाने का स्मरण करता है। 26 नवंबर 1949 को, देश की संविधान सभा ने औपचारिक रूप से भारत के संविधान को अपनाया जो 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ।
 
संविधान दिवस पहली बार 2015 में मनाया गया था, जब एनडीए सरकार ने डॉ बी आर अंबेडकर को श्रद्धांजलि के रूप में चिह्नित करने का निर्णय लिया था, जिन्होंने मसौदा समिति के अध्यक्ष के रूप में इसके निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
 इस के प्रारूप को पूरा करने में  दो साल, ग्यारह महीने और सत्रह दिन लगे।
संविधान भारत को एक संप्रभु, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित करता है, जो अपने नागरिकों को न्याय, समानता और स्वतंत्रता का आश्वासन देता है और भाईचारे को बढ़ावा देने का प्रयास करता है। यह दुनिया के किसी भी संप्रभु देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है।

 

 

Post a Comment

Powered by Blogger.