Halloween party ideas 2015



देहरादून :

 

 युग पुरूष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिवस के अवसर पर जिलाधिकारी कार्यालय में जिलाधिकारी डाॅ0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कर्मचारियों के साथ गांधी जी एवं शास़्त्री जी के चित्रों पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरूआत की तथा इस दौरान रामधुन का गायन भी किया गया। इस अवसर पर कलेक्टेªट परिसर स्थित कार्यालयों क अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा स्वच्छता की शपथ ग्रहण की। राष्ट्रीय पर्व के इस कार्यक्रम में उपस्थित  शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों से कहा कि गांधी जी एवं शास्त्री जी के जीवन आदेर्शों पर चलकर देश को अग्रणी बनाने में अपना सहयोग दें। उन्होंने कहा कि गांधी जी ने सत्य अंहिसा के मार्ग पर चलकर अंग्रेजों की गुलामी से देश को मुक्त कराने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। 

उन्होंने कहा कि गांधी दर्शन ऐसा आलेख है, जिससे सभी समस्याओं का समाधान किया जा सकता है। उन्होंने शास्त्री जीे के बारें में बताते हुए कहा कि वे एक गरीब परिवार में जन्में तथा अपने बहुमुखी प्रतिभा से देश का नेतृत्व करने तक के उनकी जीवन यात्रा से शिक्षा लेते हुए सभी को ईमानदारी एवं दृढ संकल्प होकर अपने राज्य एवं देश  के लिए  अपना योगदान देते हुए कार्य करने की प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने-अपने कार्यालयों के साथ ही अपने घर पड़ोस में भी स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें कोरोना वायरस संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए इसके बचाव हेतु किये जाने वाले सभी उपाय प्रयोग में लायें और दूसरों को भी इसके प्रयोग हेतु जागरूक करें।

 गांधी जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविन्द पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी वि/रा बीर सिंह बुदियाल, उप जिलाधिकारी प्रेमलाल, मायादत्त जोशी, मुख्य वैयक्यिक अधिकारी वीरेन्द्र सिंह सहित जिला कार्यालय एवं कचहरी परिसर अवस्थित कार्यालयों के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।   

                               

‘‘घर-घर पेयजल आपूर्ति करते हुए गांधीजी का सपना साकार करेंः जिलाधिकारी

जिलाधिकारी डाॅ0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अन्तर्राष्ट्रीय अंहिसा दिवस तथा गांधी और शास्त्री जयंती की शुभकामनायें देते हुए जिला जल एवं स्वच्छता मिशन समिति से जुड़े अधिकारियों को वीडियोकान्फ्रेसिंग के माध्यम से कहा कि गांधी जी ने सबको पेयजलन उपलब्ध कराने का जो सपना देखा था, उसी अनुसार जनपद के चयनित 82 परिवारों को 9 नवम्बर 2020 तक पाइप टैप्ड पेयजल  (एफ.एच.टी.सी) आपूर्ति कराते हुए गांधी जी के उस सपने को पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत तीन चरणों में पेयजल आपूर्ति उपलब्ध करवानी है। पहले चरण में घर-घर पाइप टैप्ड से पेयजल अपूर्ति उपलब्ध करवानी है। दूसरे चरण में स्त्रोत का पुनर्जीवन तथा स्त्रोत से वाटर सप्लाई सुनिश्चित कराना तथा तीसरे चरण में पेयजल की गुणवत्ता बढाने और उसकी नियमितता बनाये रखने का कार्य करें। पहले चरण का यह कार्य 9 नवम्बर 2020 तक शत् प्रतिशत् पूर्ण करना सुनिश्चित करें। 

जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि ग्राम पंचायत विकास अधिकारी और ग्राम विकास अधिकारी के माध्यम से प्रत्येक गांव से अवैध कनैक्शन का विवरण प्राप्त करते हुए कार्यदायी संस्थाओं से उन सभी कनैक्शनों को वैध करवाएं। साथ ही पेयजल निगम तथा जल संस्थान द्वारा 9 नवम्बर तक चयनित परिवारों को शत्‘-प्रतिशत् पेयजल आपूर्ति उपलब्ध करवाने हेतु की गयी अतिरिक्त कनिष्ठ अभियन्ताओं की मांग की भी स्वीकृति प्रदान की। 

बैठक में उत्तराखण्ड जल संस्थान द्वारा निर्मित 215 तथा उत्तराखण्ड पेयजल निगम द्वारा निर्मित 327 ग्राम कार्य योजना (वैप) का जिला समिति द्वारा अनुमोदन किया गया तथा इस दौरान जिलाधिकारी ने दोनों विभागों को निर्देश दिये कि अवशेष ग्राम कार्य योजना (वैप) को  आगामी 10 से 15 अक्टूबर तक निपटायें। साथ ही जिला कार्य योजना के अनुमोदन हेतु प्रस्तुत करें। उन्होंने कनिष्ठ अभियन्ता वार प्रतिदिन के अुनसार लक्ष्य देने तथा तय समय में लक्ष्य कैसे पूरा होगा इसकी प्रतिदिन निगरानी होती रहे और प्रतिदिन प्रगति विवरण से उन्हें भी अवगत कराते रहें। उन्होंने कहा कि जिन अभियन्ताओं की प्रगति संतोषजनक  नही पाई जाती है उनकी जिम्मेदारी तय की जायेगी। 

जिलाधिकारी ने जनभावना और जनसहयोग को ध्यान में रखते हुए स्थानीय जनप्रतिनिधि और ग्रामवासियों को विश्वास मंे लेते हुए उनकी भावना के अुनसार कार्य को अंजाम देने के  निर्देश दिये। उन्होंने अगली बैठक में सब प्रकार की प्रगति का विवरण प्रस्तुत करने के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कल से इस सम्बन्ध में काम प्रारम्भ कर दिया जाय। 

इस दौरान बैठक में मुख्य विकास अधिकारी  नितिका खण्डेलवाल, अधीक्षण अभियन्ता पेयजल निगम एस.सी पंत, सदस्य सचिव व जिला विकास अधिकारी सुशील मोहन डोभाल, नामित सदस्य नितेश कौशिक, डाॅ0 डी.एस रावत, डाॅ0 धीरेन्द्र  बडोनी, अधिशासी अभियंता जल संस्थान नमित रमोला सहित समिति से जुड़े अन्य सदस्य उपस्थित थे। 

                                  

Post a comment

Powered by Blogger.