Halloween party ideas 2015




उत्तराखंड में आज कोरोना पॉजिटिव के 264 मामले आए हैं।  जिसे मिलाकर उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के कुल मामले अब 7447 हो गए हैं। जिसमें सक्रिय केसों की संख्या 2996 है आज 162 लोग ठीक हो चुके है, रिकवर मामलों की संख्या 4330 है। अभी तक 83 लोगों मृत्यु हो चुकी है, आज 3964 लोगों के सैंपल रिपोर्ट  नेगेटिव पाए गए हैं।  उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के ठीक होने की दर बढ़कर 58.14% हो गयी है। उत्तराखंड में कंटेनमेंट जोन बढ़कर 330 हो गए है। आज अल्मोड़ा से 4, बागेश्वर से 31, चंपावत से 4, देहरादून से 27, हरिद्वार से 42, नैनीताल से 95, पौड़ी से 4, पिथौरागढ़ से 7, रुद्रप्रयाग से 1, टिहरी से 2, उधमसिंह नगर से 30 और उत्तरकाशी से 17 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। 21 फ्लू के मरीज है, 5 हेल्थ केयर वर्कर है, 4 पुलिस के जवान हैं, 136 व्यक्ति पहले से संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने से कोरोना के शिकार हुए है, 35 पैनासोनिक कंपनी से है, 7 सेना के जवान है, 23 लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री ज्ञात नहीं है, बाकी सब प्रवासी उत्तराखंड है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स संस्थान में 7 लोगों की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव पाई गई है। संस्थान की ओर से इस बाबत स्टेट सर्विलांस ऑ​फिसर को सूचित कर दिया गया है। 
एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल जी ने बताया कि बड़कोट उत्तरकाशी निवासी एक 34 वर्षीय व्यक्ति जो कि बीती 31 जुलाई को एम्स ऋषिकेश की इमरजेंसी में आए थे,जहां से उन्हें जनरल मेडिसिन विभाग के तहत कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। उनका कोविड सेंपल पॉजिटिव आने पर पेशेंट को कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। दूसरा मामला इंदिरा नगर, ऋषिकेश का है । 20 वर्षीय युवक जो कि 29 जुलाई को  एम्स ओपीडी में आया। यहां कोविड सेंपल के बाद उसे सीमा डेंटल कॉलेज में क्वारंटाइन कर दिया गया। एसिम्टमेटिक इस मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जो कि एक अन्य कोविड संक्रमित परिचित व्यक्ति के प्राइमरी कांटेक्ट में रहा है। तीसरा मामला एम्स ऋषिकेश का है, न्यूनटोलॉजी विभाग में हाल में डीएम का कोर्स ज्वाइन करने वाली 31 वर्षीया महिला चिकित्सक  जो 30 जुलाई को एम्स इमरजेंसी में पहुंची, जहां उनका कोविड सेंपल लिया गया व उन्हें क्वारंटाइन कर दिया गया। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उन्हें सीसीसी सेंटर में भर्ती होने को कहा गया है। गौरतलब है कि उक्त चिकित्सक दो दिन पहले हुबली कर्नाटक से ऋषिकेश आई थी। चौथा मामला सहारनपुर यूपी निवासी 59 वर्षीय व्यक्ति जो हाईपरटेंशन आदि बीमारियों से ग्रसित है 30 जुलाई को एम्स इमरजेंसी में पहुंचा, टेस्टिंग के बाद मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया, उसकी रिपोर्ट शनिवार को कोविड पॉजिटिव आने पर उसे कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। इसके अलावा हुबली कर्नाटक से महिला चिकित्सक के साथ आए उनके 30 वर्षीय पति भी कोविड संक्रमित पाए गए हैं, जो कि दो दिन पहले कर्नाटक से एम्स ऋषिकेश पहुंचे। एक अन्य मामला गली नंबर 4,टिहरी विस्थापित आम बाग, ऋषिकेश निवासी 45 वर्षीय व्यक्ति का है, जो 27 जुलाई को एम्स की ओपीडी में बुखार ,खराब गले व खांसी की शिकायत के साथ आए थे । उक्त व्यक्ति का इससे पूर्व 2 सैंपल नेगेटिव आए थे ,किंतु बीते शुक्रवार को लिया गया सैंपल पॉजिटिव पाया गया। गौरतलब है कि इनकी पत्नी भी कोविड संक्रमित हैं, जिनका एम्स में इलाज चल रहा है। अंतिम मामला बहादराबाद, हरिद्वार निवासी 54 वर्षीय पुरुष हैं, जोकि पिछले 5 दिनों से बुखार तथा  खांसी की शिकायत के साथ बीते शुक्रवार को एम्स ओपीडी में आए थे तथा उसी दिन से सीमा डेंटल में आइसोलेशन में भर्ती थे। जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि सभी कोविड पॉजिटिव मामलों के बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को अवगत करा दिया गया है।

Post a comment

Powered by Blogger.