Halloween party ideas 2015


ऋषिकेश :
उत्तम सिंह


 रायवाला पुलिस पर युवक को गैरकानूनी तरीके से पुलिस लॉकअप में रखकर हैवानियत का आरोप लगा है। युवक ने पुलिस द्वारा उसके साथ कि गई हैवानियत की मेडिकल रिपोर्ट सहित शिकायत पत्र मुख्यमंत्री पोर्टल, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सहित  पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को प्रेषित कर दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है।
 रायवाला पुलिस द्वारा श्यामपुर क्षेत्र के युवक को गैरकानूनी तरीके से पुलिस लॉकअप में  रखकर बेरहमी से मारपीट व हैवानियत का आरोप लगा है।ग्राम सभा गुमानीवाला निवासी विजयपाल सिंह मिश्रवाण  उम्र 42 वर्ष ने मुख्यमंत्री पोर्टल व राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को लिखित शिकायत पर रायवाला पुलिस पर उसे देर सांय घर से गैरकानूनी तरीके से पुलिस लॉकअप में रखने व  बेरहमी से मारपीट व हैवानियत का आरोप लगाते हुए दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है।
 युवक का आरोप है कि जब वह सांय के समय घर के बाहर टहल रहा था। तभी रायवाला पुलिस के दो सिपाही उसके घर आये व उसे थाना रायवाला चलने को कहा। युवक ने जब कारण जानना चाहा तो पुलिस कर्मी उसके साथ बदतमीजी करने लगे। कहा कि ज्यादा सवाल जवाब किया तो जबरन गाड़ी में ठूस कर साथ ले जाएंगे । जिस पर युवक अपनी मोटर साइकिल से थाना रायवाला पहुंचा । जहाँ
 पर दरोगा विनोद कुमार उन्हें धमकाते हुए एक कमरे में ले गए।  वहाँ  पर   युवक ने  दरोगा विनोद कुमार से कारण जानना चाहा तो उनका  पारा सातवे आसमान चढ़ गया। तथा युवक के साथ गली गलौज करते हुए कोई कारण बताए पुलिस लॉकअप में बंद कर दिया। युवक ने बताया कि लॉकअप में  उसे भद्दी भद्दी गालियां देकर डंडे व लात घूंसे व बेल्ट से बेरहमी से पिटाई की गई।  जिससे उनके शरीर मे विभिन्न जगह  गम्भीर चोट आ गई। युवक का आरोप है कि दरोगा विनोद कुमार ने युवक को गुमानीवाला निवासी गुरुप्रसाद नौटियाल के पक्ष में 10 लाख रुपये का चेक देने को कहा। युवक ने जब चेक लिखाने का कारण जानना चाहा तो पुलिस ने फिर उसके साथ बेरहमी करते हुए मारपीट शुरू कर दी। जिस पर युवक ने पुलिस मारपीट से बचने को चेक देने की हामी भर दी। दरोगा ने युवक को चेतावनी दी कि आधे घण्टे में चेक गुरुप्रसाद को सौंपकर वापस थाने आ जाओ। पुलिस ने युवक की थाने में खड़ी मोटर साइकिल को कब्जे में लेकर गुरुप्रसाद के साथ उसे चारपहिया वाहन से  चेक लेने युवक के घर भेजा तो वहाँ  पहले से जमा परिजन व रिश्तेदार  युवक के शरीर पर चोट के निशान देखकर आक्रोशित हो गए। गुस्साए परिजनों के कारण घबराकर  गुरुप्रसाद अपने साथी के साथ वहाँ  से भागकर गायब हो गए। गुस्साये परिजनों ने पुलिस की हैवनियत के खिलाफ युवक का राजकीय चिकित्सालय में मेडिकल कराकर मामले की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल, राष्ट्रीय   मानवाधिकार आयोग सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से की है। युवक के परिजनों ने बताया कि पुलिस के खिलाफ युवक की शिकायत को मुख्यमंत्री पोर्टल व मानवाधिकार आयोग ने पंजीकृत कर लिया है। उधर मामले के बारे में थानाध्यक्ष रायवाला हेमंत खंडूरी का कहना था कि उक्त युवक के खिलाफ थाना  रायवाला को रुपये के लेनदेन की शिकायत प्राप्त हुई है। जारी  जांच के क्रम में युवक को पूछताछ के लिए बुलाया गया था। युवक 10 लाख की देनदारी से बचने को पुलिस पर अनर्गल आरोप लगा रहा है।

Post a comment

Powered by Blogger.