Halloween party ideas 2015

आज SDRF सर्चिंग टीम द्वारा लापता ट्रेकरों को सकुशल सोनप्रयाग लाया गया। उच्च तुंगता क्षेत्रों में  चलाया था गहन सर्चिंग अभियान

दिनांक 12 जुलाई 2020 को श्री केदारनाथ यात्रा हेतु पहुँचे पर्यटकों द्वारा श्री केदारनाथ दर्शन उपरांत  वासुकिताल -त्रियुगीनारायण होते हुए सोनप्रयाग पहुंचेंगे ट्रेकिंग की योजना बनायी ओर अपने एक साथी को  यह कहते हुए भेज दिया कि हम चारों आपको  कल 13 जुलाई को सोनप्रयाग में मिलेंगे।  किन्तु चारो साथियों के देर रात्रि तक सोनप्रयाग न पहुंचने पर उनके साथी  शशांक द्वारा  घटना से अवगत कराया और लापता होने का अंदेशा जताया।
  जिस पर दिनांक 14 जुलाई को पुलिस चौकी श्री केदारनाथ द्वारा केदारनाथ क्षेत्र  से वासुकी ताल को गए 04 ट्रैकर के  लोकेशन के सम्बन्ध   कोई जानकारी प्राप्त न होने  की, सूचना SDRF को दी । जिस  सूचना पर एक टीम तत्काल ही  केदारनाथ  से एक  SDRF सर्चिग टीम  वासुकीताल क्षेत्र को रवाना हुई   , जिनके द्वारा अत्यधिक  खराब मौसम में सर्चिंग भी की किन्तु सफलता प्राप्त नही हो पायी ,
 पुनः  15 जुलाई को सेनानायक SDRF  श्रीमती तृप्ति भट्ट द्वारा  SDRF की टीमों को निम्न   ट्रेकिंग  रूटों पर  पर बृहद स्तर पर  सघन सर्चिंग हेतु भेजा गया है


1- केदारनाथ से वासुकी ताल
02- सोनप्रयाग मून कुटिया से वासुकी ताल
3- सोनप्रयाग से तोशी  केदारनाथ ट्रेक,
4-श्री केदारनाथ  क्षेत्र से तोशी गांव को
5-  हवाई माध्यम


उच्च तुंगता क्षेत्रों में मौसम अत्यधिक खराब होने एवम कुहरा होने की वजह से हेली के माध्यम से सर्चिंग में सफलता नही मिली, किन्तु धरातल में  SDRF की  टीमों द्वारा सर्चिंग अभियान जारी रहा।
लापता चारों ट्रेकरों में   देहरादून निवासी हिमांशु गुरुंग और जितेंद्र भण्डारी एवमं नैनीताल निवासी मोहित भट्ट और जगदीश बिष्ट जो श्री केदारनाथ के दर्शन उपरांत वासुकीताल त्रियुगीनारायण ट्रेक रुट में चले गए थे, लापता ट्रेकरों से सम्पर्क करने की कोशिश गयी, काफी मशक्कत के बाद सम्पर्क होने पर ट्रेकरों की लोकेशन पूछी गयी किन्तु स्पष्ट जानकारी नही मिल पाई, ट्रेकरों के पास आवश्यक साजो सामान ओर खाद्य सामग्री न होने पर अतिशीघ्र खोजने की चुनोती भी SDRF टीम के समक्ष थी
लापता सदस्यों से मोबाइल सम्पर्क होने पर  लाग जलाने को कहा  गया  ताकि धुंए से  संकेत प्राप्त हो परन्तु कुहरे के कारण   अथवा आवाज की अस्पष्टता से  सन्देश पूर्ण न सुन पाने  सफलता नही मिल पायी । SDRF टीमों के द्वारा  रात्रि कैम्पिंग ट्रेक रूटों पर ही किया गया । 16 जुलाई  दोपहर करीब ,सर्चिंग के दौरान एक टीम को लापता ट्रेकर्स की  लोकेशन की जानकारी तोशी गांव के करीब प्राप्त हुई  जिन्हें तोशी के जंगलों में  ढूंढ लिया गया टीम द्वारा  रात्रि ट्रेकर्स को गाँव मे ही बिश्राम कराया गया एवम आज प्रातः टीम ट्रेकर्स सहित सोनप्रयाग पहुंची। सभी ट्रेकर्स बेहद थके हुए थे जिनके द्वारा रातें खुले आसमान ओर चट्टानों की आड़ में ठंड में गुजारी थी

ट्रैकर दल का नाम पता--

1 - जितेन्द्र भण्डारी उर्फ हर्षू पुत्र स्व0 श्री गजेसिंह भण्डारी, निवासी ग्राम व पो0 तूनवाला, थाना रायपुर जिला-देहरादून।
2- हिमान्शु गुरुंग पुत्र श्री भद्र बहादुर, निवासी लोवर नेहरु ग्राम, थाना रायपुर, जिला देहरादन।
3 - जगदीश बिष्ट उर्फ जग्गू पुत्र श्री गंगासिंह बिष्ट, निवासी रामपुर, जिला - नैनीताल।
4 - मोहित भट्ट पुत्र श्री कृष्णा भट्ट, निवासी रामपुर, जिला- नैनीताल।

सम्पूर्ण  अभियान में SDRF के साथ जिला पुलिस जिला एवमं डीडीआरएफ  की टीमो का भी सहयोग रहा।

Post a comment

Powered by Blogger.