Halloween party ideas 2015


मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के निर्देश पर पिछले दिनों में कोविड-19 के दृष्टिगत सर्विलांस और सेम्पलिंग में काफी बढोतरी हुई है। राज्य के सभी जनपदों में आशा और आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों के माध्यम से घर -घर जाकर सर्विलांस किया जा रहा है। पता लगाया जा रहा है कि किसी में कोरोना के लक्षण तो नहीं हैं। विशेष रूप से सीनियर सीटीजन और गम्भीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों की जानकारी रखी जा रही है। अधिकांश जिलों में सर्विलांस के 2 या 2 से ज्यादा राउंड हो चुके हैं। उत्तरकाशी में 4, नैनीताल, रुद्रप्रयाग, अल्मोडा, चमोली व टिहरी में 3-3, बागेश्वर, चम्पावत, पौङी व ऊधमसिंह नगर में 2-2 और पिथौरागढ़, देहरादून व हरिद्वार में 1-1 राउंड सर्विलांस का किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने इस प्रक्रिया को आगे भी लगातार करते रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने पूरी गम्भीरता से सर्विलांस करने और इससे प्राप्त जानकारियों के आधार पर जरूरी कदम उठाने को कहा है।

मुख्यमंत्री ने सेम्पलिंग और टेस्टिंग को भी बढाने के निर्देश दिये हैं। राज्य में सेम्पलिंग में लगातार वृद्धि हो रही है। इस सप्ताह  औसतन 2487 सेम्पल प्रतिदिन लिए गए जबकि पिछले सप्ताह यह औसत 1660 प्रतिदिन था।  प्रति मिलियन जनसंख्या पर सेम्पलिंग का औसत बढ़कर 9981 हो गया है जो कि राष्ट्रीय औसत से कुछ ही कम है। एक सप्ताह में इसके राष्ट्रीय औसत से ऊपर जाने की पूरी संभावना है। चम्पावत, देहरादून, नैनीताल, पौङी और रुद्रप्रयाग में सेम्पलिंग, राष्ट्रीय औसत से अधिक है। टेस्टिंग और सेम्पलिंग को बढाने के लिए जिलाधिकारियों को प्राईवेट लेब का भी उपयोग करने को कहा गया है। जिलों में ट्रूनाट मशीनें और एंटीजन टेस्टिंग किट भी उपलब्ध करवाई गई हैं। राज्य में वर्तमान में 342 डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर हैं जिनमें 23436 बेड की क्षमता है। इनमें से 22762 अभी खाली हैं। कोविड फेसिलिटी में आईसीयू बेड 338, वेंटिलेटर 243 और ऑक्सीजन सपोर्ट बेड 1197 हैं। इनकी संख्या में भी लगातार वृद्धि की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पिछले कुछ दिनों में पाजिटिव मामलों में वृद्धि देखी गई है। परंतु स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। सर्विलांस और टेस्टिंग व सेम्पलिंग पर फोकस किया जा रहा है। सुनिश्चित किया जा रहा है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति को समय पर उचित इलाज उपलब्ध हो।



अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स संस्थान में पिछले 24 घंटे में 14 लोगों की कोविड सेंपल रिपोर्ट पाॅजिटिव पाई गई है। जिसमें  स्थानीय लोग शामिल हैं, कोविड संक्रमित लोगों में एम्स में कार्यरत एक सिक्योरिटी सुपरवाइजर तथा नर्स भी शामिल है। संस्थान की ओर से इस बाबत स्टेट सर्विलांस ऑ​फिसर को सूचित कर दिया गया है।
एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि संस्थान में की गई सेंपलिंग में 14 व्यक्तियों की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि चौदह बीघा मुनिकीरेती निवासी एम्स में कार्यरत एक 35 वर्षीय कर्मचारी जो कि सुरक्षा विभाग में सुपरवाइजर हैं जो कि 17 जुलाई को एम्स ओपीडी में आए थे जहां उनका कोविड सेंपल लिया गया था जो कि पॉजिटिव आई है। उनका एम्स में कार्यरत एक अन्य कर्मचारी जो कि कोविड संक्रमित हैं, से प्राइमरी कांटेक्ट बताया गया है। इसी तरह आवास विकास  में रहने वाली एम्स के न्यूरोलॉजी वार्ड में कार्यरत 20  वर्षीय  नर्सिंग ऑफिसर  भी  कोविड-19 पाई गई है । इसी प्रकार श्यामपुर ऋषिकेश निवासी 42 वर्षीय व्यक्ति जो कि 17जुलाई को गले में खराश की शिकायत के साथ एम्स स्क्रीनिंग ओपीडी आए थे, उनका कोविड सेंपल लिया गया था, जो कि पॉजिटिव पाया गया है। गुड्डू प्लॉट  श्यामपुर के ही रहने वाले 37 वर्षीय  व्यक्ति  जो कि हरिद्वार की एक फैक्ट्री में काम करते हैं। हरिद्वार की इसी फैक्ट्री में कार्यरत एक अन्य 40 वर्षीय व्यक्ति भी  पॉजिटिव पाए गए हैं जो गुमानीवाला ऋषिकेश के निवासी हैं। तीन अन्य पॉजिटिव केस एम्स में भर्ती मरीजों के तीमारदारों के है। जिनमें 30 वर्षीय कांवली रोड देहरादून की महिला, 34 वर्षीय ज्वालापुर हरिद्वार निवासी महिला और मुखिया गली भूपतवाला, हरिद्वार.निवासी 21 वर्षीय व्यक्ति हैं। रायवाला निवासी 37 वर्षीय व्यक्ति जो कि बुखार की शिकायत लेकर बीते शुक्रवार को एम्स ओपीडी में आए थे। जिनकी कोविड सेंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, पेशेंट को सीसीसी सेंटर में एडमिट होने को कहा गया है।
रायवाला निवासी एक अन्य 43 वर्षीय व्यक्ति 17जुलाई को खांसी व कफ की शिकायत के साथ एम्स ओपीडी में आए थे, जिनका कोविड सेंपल लिया गया व उन्हें होम आइसोलेशन में भेज दिया गया। उक्त व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। ज्ञान लोक कॉलोनी कनखल, हरिद्वार के रहने वाले  66 वर्षीय व्यक्ति 3 दिनों से बुखार और कफ से पीड़ित थे, उन्होंने जब एम्स ओपीडी में आकर अपना कोविड-19 टेस्ट कराया तो जांच में पॉजिटिव पाए गए। बड़कोट देहरादून निवासी 32 वर्षीया महिला जो कि बीते शुक्रवार को एम्स में भर्ती  अपने कोविड संक्रमित पति को देखने आई थीं, महिला का बुखार व कफ की शिकायत पर कोविड सेंपल लिया गया था जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। महिला 17 जुलाई से होम आइसोलेशन में है, जिसे सीसीसी सेंटर में भर्ती होने को कहा गया है। काशीपुर उधमसिंहनगर निवासी 35 वर्षीय व्यक्ति जो कि लीवर की बीमारी से ग्रसित होने के कारण बीते 11  16 जुलाई तक एम्स में भर्ती रहा। जिसका 11 जुलाई को पहला सेंपल लिया गया जो कि नेगेटिव रहा। मरीज को 16 जुलाई को डिस्चार्ज कर दिया गया। उक्त व्यक्ति तवियत खराब होने पर 17 जुलाई को दोबारा एम्स इमरजेंसी में भर्ती किया गया, जिसका दोबारा कोविड सेंपल लिया गया जो कि पॉजिटिव आया है। मरीज वेंटिलेटर पर है, जिसे इमरजेंसी से कोविड आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया है। अंतिम मामला रुद्रप्रयाग निवासी 47 वर्षीय व्यक्ति का है, जो पिछले 8 दिनों से बुखार एवं पीठ के दर्द की  शिकायत के साथ एम्स ऋषिकेश आए थे। कोविड स्क्रीनिंग ओपीडी में उनका कोविड सैम्पल लिया था, जो जांच में पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद उन्हें एम्स में भर्ती कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि संबंधित मामलों के बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है ।

Post a comment

Powered by Blogger.