Halloween party ideas 2015



मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देश में राफेल विमानों का स्वागत करते हुए कहा कि आज पूरे देश में खुशी का माहौल है। देश को लम्बे समय से इन आधुनिक तकनीक युक्त विमानों की प्रतीक्षा थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे युद्धक विमानों की सेना को नितान्त जरूरत भी रही है। हमारी सेना के पास ऐसे विमान होने चाहिए जो तकनीकि दृष्टि से अद्वितीय हो, तमाम तरह के युद्ध से सम्बन्धित आयुधों को ले जाने में सक्षम हों। राफेल एक ऐसा लड़ाकू विमान है जो हर मौसम में मारक क्षमता रखता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यह प्रधानमंत्री श्री मोदी की दृढ़ इच्छा शक्ति का भी प्रतीक है। प्रधानमंत्री की सदैव ही अपनी सैनाओं को मजबूत बनाने की प्राथमिकता रही है। हमारे देश की सेनाओं की मजबूती के लिये आवश्यक है कि उसके पास अत्याधुनिक आयुध सामग्री उपकरण एवं तमाम आवश्यक संसाधन उपलब्ध हां। आज हमारी सैनायें तमाम युद्धक साजो सामान से परिपूर्ण हैं। राफेल हमारी सेना की ताकत को निश्चित रूप में बढ़ाने में मददगार होगा। इससे सेना का मनोबल भी ऊंचा होगा तथा देश की सीमाओं की सुरक्षा में और मजबूती आयेगी। इससे हमारी वायुसेना की क्षमताओं में भी निश्चित रूप में क्रांतिकारी बदलाव आयेगा।



बुधवार को सचिवालय में मीडिया से अनौपचारिक वार्ता करते हुए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि इस सप्ताह राखी त्योहार के दृष्टिगत प्रदेश के चार जनपदों में शनिवार एवं रविवार को लाॅकडाउन नही रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि रक्षाबन्धन के अवसर पर आम जनता एवं व्यापारियों को लाकडाउन के कारण असुविधा न हो इसलिए जनहित में यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में मुख्य सचिव को आवश्यक दिशा निर्देश जारी करने को कहा गया है।

सिडकुल घोटाले की एसआईटी जांच के सम्बन्ध में पुछे गये प्रश्न के विषय में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें समाचार पत्रों के माध्यम से जानकारी मिली है कि इससे सम्बन्धित कई फाइलें गुम हो गई है। उन्होंने कहा कि गुम हुई एक-एक फाईल को तथा फाईल गायब करने वाले को ढूंढा जायेगा, फाईल गायब कर देने से जांच में कोई फर्क नही पड़ेगा, इस सम्बन्ध मंे दोषी कोई भी व्यक्ति बच नही पायेगा, जिस किसी व्यक्ति द्वारा यह कृत्य किया गया है उसके विरूद्ध भी सख्त दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने देश में 28 साल बाद नई शिक्षा नीति लाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डाॅ रमेश पोखरियाल निशंक को बधाई देते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति भारत के भविष्य को संवारने में मददगार होगी। इसमें शिक्षा पर जीडीपी का 6 प्रतिशत खर्च करने  और कक्षा पांच तक मातृभाषा में शिक्षा देने की बात कही गई है। पारम्परिक मूल्यों का समावेश करते हुए नई शिक्षा नीति को आने वाले समय की चुनौतियों के अनुरूप बनाया गया है।

Post a comment

Powered by Blogger.