Halloween party ideas 2015


 देहरादून :


मुख्य कार्यकारी अधिकारी उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड देहरादून श्री रविनाथ रमन के निर्देशानुसार , बद्रीनाथ धाम में चार धाम यात्रा प्रारंभ करने के संबंध में हक हकूक धारियों स्थानीय निकाय होटल टैक्सी यूनियन के प्रतिनिधियों स्थानीय विधायक गण तथा जनप्रतिनिधियों के साथ वार्ता कर अपनी आख्या उपलब्ध कराए जाने हेतु निर्देशित किया गया था आमजन हक हकूक धारियों से विचार-विमर्श कर यह सुनिश्चित किया गया है कि वर्तमान में कोरोना महामारी  के दृष्टिगत चार धाम यात्रा को वर्तमान में 30 जून 2020 तक स्थगित किया जाना ,आम जनमानस के हित में उचित होगा.

अधिकारियों ने यह भी  स्पष्ट  किया है कि  स्थानीय स्तर पर स्थानीय नागरिकों को सभी आवश्यक सावधानियों का पालन करते हुए अत्यंत सीमित संख्या में ही मंदिर में मात्र भगवान के दर्शन किए जाने में आपत्ति नहीं है तथा जिन होटल गेस्ट हाउस स्वामियों तथा अन्य व्यक्तियों गढ़वाल विकास निगम तथा देवस्थानम बोर्ड आदि की परिसंपत्तियों धाम नगरी में है .उसमें आवश्यक मरम्मत तथा रखरखाव हेतु किए जाने में भी संख्या में कोई आपत्ति नहीं है .
मुख्य सचिव उत्तराखंड शासन के आदेश में राज्य के बाहर स्थित व्यक्तियों हेतु धार्मिक स्थलों में जाने की अनुमति वर्तमान में नहीं है .
दिनांक 30/06/ 2020 तक श्री बदरीनाथ धाम में अधिकतम 1200 केदारनाथ धाम में अधिकतम 800c गंगोत्री धाम में 600 अधिकतम  तथा यमुनोत्री धाम में अधिकतम 400 दैनिक संख्या की सीमा तक अपने-अपने जनपद के अंतर्गत जिला  स्थानीय प्रशासन श्रद्धालुओं को अपने जनपद में अवस्थित धामों में दर्शनार्थ जाने की अनुमति प्रदान कर सकेंगे .
यह व्यवस्था अग्रिम आदेश 30 जून 2020 तक लागू रहेगी

 जनपद चमोली उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिला के प्रशासन को श्री गंगोत्री, यमुनोत्री ,केदारनाथ ,बद्रीनाथ देवस्थान में दर्शन हेतु धाम में
1.  दर्शन का समय प्रातः 7:00 से 7:30 बजे तक रहेगा
2 .धाम में पधारने वाले समस्त श्रद्धालुओं और तीर्थयात्री अपने स्वयं के स्तर से किए गए स्थगन स्थानों में ही रहेंगे
3.  यात्रियों को दर्शन हेतु निशुल्क टोकन प्राप्त करना होगा जिन्हें देवस्थान बोर्ड निशुल्क उपलब्ध कराएगा
4. निशुल्क दर्शन टोकन प्राप्ति हेतु टैक्सी स्टैंड एवं नीलकंठ विश्राम गृह के भूतल पर स्थापित काउंटर से प्राप्त करना होगा
5.  दर्शन टोकन तीर्थ यात्रियों को दर्शन से पूर्व प्राप्त करना अनिवार्य होगा निशुल्क दर्शन टोकन काउंटर में शारीरिक दूरी बनाए रखना तथा मास्क लगाना अनिवार्य होगा
6.  निशुल्क दर्शन टोकन में दर्शन हेतु निश्चित समय एवं तिथि अंकित होगी तीर्थ यात्रियों को दर्शन टोकन में अंकित समय पर दर्शन लाइन में दर्शन हेतु मंदिर परिसर में निर्धारित लाइन में खड़े होना होगा
7.  01 घंटे में 120 शरणार्थी का दर्शन का पुण्य लाभ होगा दर्शन हेतु मंदिर के अंदर में होगा 40 मीटर की होगी जो कि सिंह द्वार से ब्रह्मकपाल  तक 2 मीटर की दूरी पर बनाए गए चिन्हित गोले पर यात्रियों को खड़ा होना होगा

8.  विशेष पूजा ए संपादित करने वाले यात्रियों को सामाजिक दूरी के दृष्टिगत तथा सभामंडप में बैठने की अनुमति नहीं होगी .

9. उन्हें दर्शन निर्धारित स्थान में होगा श्री बदरीनाथ धाम में उक्त प्रक्रिया के तहत 12 श्रद्धालुओं को निश्चित किए जाएंगे जो भी शासन-प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए ,दर्शन का लाभ प्राप्त कर पाएंगे .

 10. एक व्यक्ति को एक समय में 03 से अधिक  टोकन नहीं दिए जायेंगे


Post a comment

Powered by Blogger.