Halloween party ideas 2015

हरिद्वार:


 मुख्य विकास अधिकारी श्री विनीत तोमर एवं अपर जिलाधिकारी श्री कृष्ण कुमार मिश्र ने पुलिस तथा स्वास्थय विभाग के कार्मिकों के साथ चंडीगढ़ से उत्तराखण्ड आये  , 458 राज्यवासियों की सुरक्षित वापसी के इंतजाम किये।
 उन्होंने यात्री बसों के पहुंचने से पूर्व की व्यवस्थाओं को निरंतर निरीक्षणर करते हुए सम्बधितों को यात्रियों के खाने-पीने, शौचालय, विश्राम के लिए उचित प्रबंध किये।

सीडीओ ने सीएमओ तथा स्वास्थय कर्मियों से इन सभी यात्रियों की  भली- भांति स्क्रीनिंग तथा नगर निगम के माध्यम से इन उत्तरखण्ड वासियों को लाने लेे जाने के लिए प्रयोग हो रही बसों को अच्छी तरह सेनेटाइज कराया।

भेजे गये यात्रियों के हाथों पर स्क्रीनिंग हो चुकी है ऐसी एक मुहर भी लगायी गयी जिससे इन यात्रियों को अगली यात्रा में बाधा न आये।हरिद्वार में पहंुंचने वाली सभी बसों की पार्किंग व्यवस्था भल्ला स्टेडियम में गयी तथा इन यात्रियों को विभिन्न धार्मिक और सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से आश्रय उपलब्ध कराया। अब सभी यात्रियों को गढ़वाल और कुमांउ के विभिन्न जिलों को भिजवाया जा रहा है।

सीडीओ श्री तोमर और अपर जिलाधिकारी श्री केके मिश्र ने उत्तरखण्ड के सभी यात्रियों को सकुशल इनके गृह जनपदों तक पहुंचाने की बात कही। उन्होंनें समाज सेवी और धार्मिक संस्थाओं को जिला प्रशासन के साथ आकर इस कार्य में सहयोग देने के लिए आभार व्यक्त किया।

जिलाधिकारी ने संबंधित उप जिलाधिकारी/संबंधित अधिकारियों को कार्य करने के इच्छुक व्यक्तियों की जानकारी, नामित नोडल अधिकारियों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

  • नाागरिकों हेतु आरोग्य सेतु एप द्वारा सुरक्षा प्रदान किये जाने के संबंध में जिलाधिकारी हरिद्वार श्री सी. रविशंकर ने जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि सभी नागरिक अपनी सुरक्षा को और अधिक सुनिश्चित करने के लिए मोबाईल और लैण्डलाईन सेवा, सेवाएं पहले से ही लागू की जा चुकी हैं। यह एक टोल फ्री सेवा है।
  •  नागरिकों को 1921 पर केवल मिस्ड काॅल करनी है। काॅल स्वयं कट जाने के बाद 1921 से वापस काॅल प्राप्त होगी। जोकि स्वास्थ्य संबंधी प्रश्नों से जुड़ी जानकारियों से संबंधित होगी। स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे, आरोग्य सेतु एप के माध्यम से उसी प्रकार की प्रतिक्रियाएं या परिणाम प्राप्त होंगे, जिस प्रकार के उत्तर नागरिक अपने स्वास्थ्य के संबंध में आरोग्य सेतु एप को जवाब देगा।
  •  नागरिकों को संदेशों द्वारा उनके स्वास्थ्य से संबंधित चेतावनी एप द्वारा लगातार मिलती रहेगी, वे जहाँ भी जायेंगे।यह सेवा 11 लोक भाषाओं में दी जा चुकी है। साथ ही साथ नागरिकों को उसी भाषा में संदेश भेजे जा चुके है जिस भाषा में वे अपने जानकारी साझा कर सकते हैं।
  • आरोग्य सेतु एप में वे सभी प्रक्रियाएं की जा चुकी हैं, जिस में वे कार्य किये जाते है जो नागरिकों को चेतावनी देते हैं। उनकी सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए। सभी मीडिया /पत्रकार साथियों से भी निवेदन किया कि राज्य और केन्द्रशासित राज्य जनता को 1921 सेवा के संबंध में जागरूक करने के लिए अपना सहयोग प्रदान करें।
  •  नागरिकों को इस सेवा के वास्तविक रूप के संबंध में जागरूक करें और उन्हें बताया जाना चाहिए कि झूठी और धोखेबाज काॅल्स से सावधान रहें।
  • उन्होंने स्टेट हेल्थ डिपार्टमेंट और अन्य डिपार्टमेंट अपने होम पेज पर इस सर्विस की जानकारियों का संचालन करने के भी निर्देश दिये।

Post a comment

Powered by Blogger.