Halloween party ideas 2015




SDRF उत्तराखंड पुलिस कोविड - 19 से जंग में   त्याग , सेवा, जोश , समर्पण, से सुसज्जित वीर योद्धा के स्वरूप में नजर आ रही है  आएसोलोशन वार्ड सुरक्षा हो   ZOOM  APP की सहायता से जागरूकता,या प्रदेश भर में जन मानस तक कोविड संक्रमण से सुरक्षा सन्देश,  SDRF के जवान   हर स्थान में हर परिस्थिति में नजर आ रहे है

 डिजिटल जागरूकता की बात करें तो SDRF की प्रशिक्षण शाखा से दिनांक 10अप्रेल से  प्रतिदिन ही समय 1100  एवमं 1600 बजे SDRF के प्रशिक्षकों द्वारा कोरोना से  बचाव एवमं फैली हुई भाँतियों से सम्बंधित जानकारी प्रदान की जा रही है प्रतिदिन ही जूम  ZOOM AAP के माध्यम से लगभग 100 से अधिक पुलिस कर्मी, एवम जनसामान्य को जानकारी प्रदान की जा रही है।
वर्तमान समय तक SDRF के द्वारा 6500 से अधिक पुलिस, होमगार्ड, PRD, दुकानदार, फल विक्रेता, एवमं अन्य हितदायी संस्थाओं को कोरोना से बचाव सम्बन्धी जानकारी विभिन्न माध्यमो से प्रदान की है, प्रशिक्षण के माध्यम से स्वच्छता कैसे रखें, वैकल्पिक सेनेटाइजर कैसे बनाये, लक्षणों की पहचान, एवम सावधानियां जैसे विषयों पर जानकारी प्रदान की जिसका उद्देश्य  कोरोना  संक्रमण को रोकने में अवेर्नेश को गति और ऊर्जा देने के साथ ही  समय की बचत  का सदुपयोग करना है साथ ही प्रशिक्षण प्रदान  करने में   सामाजिक दूरियां जैसे नियम भी बने रहते है, SDRF द्वारा अपने नियुक्त क्षेत्रों मेंअधिकाधिक पुलिसकर्मी, NSS, NCC छात्र एवम जनसामान्य को ZOOM APP को अपने मोबाइल में इंस्टाल कर  जानकारी प्राप्त करने हेतु  प्रोत्साहित भी किया जा रहा है,

ज्ञातव्य हो कि SDRF द्वारा  पूर्व  में 2015 में  नेपाल अर्थक्वेएक के समय भी  व्यापक स्तर पर भूकम्प से बचाव सम्बन्धी जनजागरूकता अभियान चलाया था, साथ ही लक्सर  एवम गोहरमाफी  जैसे अनेक बाढ़ ग्रस्त संवेदनशील क्षेत्रो में मानवक्षति न्यूनीकरण हेतु अनेक नुक्कड़ नाटक, पेम्पलेट वितरण, एवमं व्यख्यानों के माध्यम से आमजनमानस को जागरूक किया था साथ ही  वैकल्पिक उपस्थित साधनों की सहायता से बाढ़ के दौरान सहायक उपकरणों को बनाने का प्रशिक्षण भी प्रदान किया था,
वर्तमान समय तक SDRF के द्वारा लगभग  एक लाख छब्बीस हजार से अधिक पुलिस , PRD, होमगार्ड,  भूतपूर्व सैनिक,युवा एवमं महिला मंगल दल,स्कूली छात्र छात्राएं, एवम अनेक हितदायी संस्थाओं को डिसास्टर जेसे अनेक विषयों में प्रशिक्षण दिया है एवम जागरूक किया है,
वर्तमान में SDRF में CBRN(केमिकल, बायलॉजिकल, रेडियोजिकल, एवमं न्यूक्लियर)प्रशिक्षित 38 सदस्यीय बायलॉजिकल डिसास्टर कोविड 19 से निपटने को नियुक्त है जिनके द्वारा पूर्व में मिलिट्री इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ पुणे से CBRN TOT कोर्स किया है साथ ही अन्य सदस्यों के द्वारा भी 5 BTN NDRF पुणे, एवम  फायर सर्विस ट्रेंनिग इंस्टिट्यू हैदराबाद से भी प्रशिक्षण प्राप्त किया है, प्रशिक्षित टीम के द्वारा प्रदेश भर में पूर्व में हुई CBRN डिसास्टर मॉक ड्रिल में भी प्रतिभाग किया गया था,

       SDRF  उत्तराखंड पुलिस प्रदेश में अटल हिमालय की भांति कोविड - 19 जैसी विभीषिका रखने वाली महामारी में  जनसेवा को चौबीसों घण्टे मुस्तेद है प्रदेश के 08 आइसोलेशन वार्ड में SDRF के जवान हर समय  सुरक्षा के दृष्टिगत तैनात है। साथ ही   SDRF सेनानायक श्रीमती तृप्ति भट्ट के  माध्यम से प्रदेश के सभी जनपदों में SDRF  ऑफीसर्स को  कोविड -19 नोडल ऑफिसर भी नियुक्त किया गया है स्वयं सेनानायक SDRF के द्वारा भी SDRF द्वारा प्रदेश में चल रहे कोविड 19  संक्रमण बचाव प्रशिक्षण/जागरूकता अभियान का पर्यवेक्षण किया जा रहा है और समय समय मे आवश्यक दिशा  निर्देश भी निर्गत किये जा रहे है साथ ही समय समय पर  आएशोलेशन वार्ड में नियुक्त कर्मियों की व्यक्तिगत सुरक्षा हेतु भी दिशा निर्देश जारी किए जा रहे है

Post a comment

Powered by Blogger.