Halloween party ideas 2015



ऋषिकेश :


पहाड़ों मे विकास कागजो तक ही सीमित रह गया  है ।जहां एम्बुलेंस सडक पर नहीं कंधों पर दौड रही है ।जी हाँ  हम बात कर रहे  जिला पौडी गढवाल के विधानसभा  यमकेश्वर की जहां क्षेत्र के लोगों आज भी सडक,स्वास्थ्य ,शिक्षा के  लिये तरस रहे ।   यमकेश्वर के गाँव में सड़क नही होने से लोग  मरीजों को कंधे में उठाकर मुख्य सड़क तक लाने को मजबूर है।
यमकेश्वर के ग्राम सभा व क्षेत्र पँचायत बूंगा का तोक गाँव वीरकाटल निवासी  नरेन्द्र सिंह रौथाण  की तबियत ख़राब हो गयी तो उन्हें गाँव के निवासियों द्वारा कंधों में बिठाकर मुख्य सड़क मोहनचट्टी तक लाया गया ,उसके बाद निजी वाहन की सहायता से एम्स ऋषिकेश में भर्ती किया गया। नरेन्द्र रौथाण को कंधे पर गाँव के निवासी कमल, राजेश, मंजीत, उपेंद्र, संजीव अन्य युवाओं ने   उन्हें कंधो में बिठाकर मुख्य सड़क मार्ग तक लाये।
इस बाबत सुदेश भट्ट, क्षेत्र पंचायत सदस्य बूंगा ने बताया कि क्षेत्र में सड़क नही होने से बड़ी समस्याओं का सामना हर रोज ग्रामीणों को करना पड़ता है। बूंगा – रणखोली- वीरकाटल सड़क 10 साल पहले स्वीकृत हो चुकी है, लेकिन आज तक विभागीय कागजो में धूल फांक रही है, यदि यह सड़क बन गयी होती तो आज नरेंद्र रौथाण को कंधे में बिठाकर ले जाने की नौबत नही आती। इसी तरह वीरकाटल गधेरे में बनी पुलिया 2014 में आपदा की भेंट चढ़ गया जो आज तक दोबारा नही बन पाया। उन्होंने यह भी बताया कि इस पुलिया में बिजली के पोल रखकर लोग जान जोखिम में डालकर उसके ऊपर चल रहे हैं।

Post a comment

Powered by Blogger.